News Nation Logo
Banner
Banner

संजय राउत बोले- प्रियंका जेल में हैं और आरोपी मंत्री खुलेआम घूम रहा है

संजय राउत ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा ने देश को हिला कर रख दिया है, प्रियंका गांधी को यूपी सरकार ने गिरफ्तार कर लिया गया है, विपक्षी नेताओं को किसानों से मिलने से रोका जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 05 Oct 2021, 07:14:52 PM
Sanjay raut

संजय राउत, शिवसेना नेता (Photo Credit: TWITTER HANDLE)

highlights

  • संजय राउत ने मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की
  • लखीमपुर खीरी में धारा 144 लागू, वहां विपक्षी दलों के नेताओं को जाने से रोका जा रहा है
  • यूपी में सरकार द्वारा दमन के खिलाफ संयुक्त विपक्ष कार्रवाई की जरूरत

नई दिल्ली:

लखीमपुर खीरी हिंसा पर शिवसेना नेता संजय राउत राहुल गांधी से मिलकर सरकारी दमन के खिलाफ संयुक्त विपक्ष की कार्रवाई पर सलाह-मशविरा किया. राउत ने कहा कि हिंसा की सचाईं जानने के लिए विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल खीरी भेजना चाहिए. लखीमपुर खीरी हिंसा पर विपक्ष के तेवर दिनोंदिल तल्ख होते जा रहे हैं. कांग्रेस और समाजवादी पार्टी तो पहले दिन से ही इस मामले पर बयानबाजी शुरू का दी थी अब शिवसेना भी खुलकर किसानों की हत्या का विरोध करने लगी है. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा ने देश को हिला कर रख दिया है, प्रियंका गांधी को यूपी सरकार ने गिरफ्तार कर लिया गया है, विपक्षी नेताओं को किसानों से मिलने से रोका जा रहा है. यूपी में सरकार द्वारा दमन के खिलाफ संयुक्त विपक्ष कार्रवाई की जरूरत है.

संजय राउत ने मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेता एवं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी राहुल गांधी के आवास पर मौजूद थे. राउत ने कहा कि प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के बाद राहुल गांधी से मिलना जरूरी हो गया था. यदि कानून के नजर में सब बराबर हैं तो क्यों प्रियंका गांधी जेल में हैं और मंत्री खुलेआम घूम रहा है. इस मुलाकात में हिंसा की सचाईं को जानने के लिए विपक्षी दलों के नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी भेजने पर चर्चा हुई.

लखीमपुर खीरी में धारा 144 लागू है. वहां विपक्षी दलों के नेताओं को जाने से रोका जा रहा है. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, छत्तीसगढ़ के मुख्मंत्री भूपेश बघेल समेत कई नेताओं को वहां जाने से रोक दिया गया है.

यह भी पढ़ें: NCB के आरोप हुए सही तो आर्यन को मिलेगी कितनी सजा? क्या मिलेगी जमानत

हिंसा के कथित मुख्य आरोपी एवं केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र 'टेनी' के पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू खुलेआम घूम रहा है. अभी तक उसकी गिरफ्तारी की कौन कहे, एफआईआर तक दर्ज नहीं की गयी है. किसान नेता लगातर मोनू के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने और घटना की निष्पक्ष जांच के लिए अजय मिश्र के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

First Published : 05 Oct 2021, 06:05:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो