logo-image
लोकसभा चुनाव

मुख्तार अंसारी के बेटे को सुप्रीम कोर्ट से राहत, अब्बास अंसारी को पिता की प्रार्थना सभा में शामिल होने की मिली इजाजत

Mukhtar Ansari Prayer: सुप्रीम कोर्ट ने अब्बास अंसारी को अपने दिवंगत पिता मुख्तार अंसारी के लिए होने वाली प्रार्थना सभा में शामिल होने की इजाजत दे दी. हालांकि वह पुलिस हिरासत में सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक अपने घर जाएगा.

Updated on: 15 May 2024, 12:55 PM

नई दिल्ली:

Mukhtar Ansari Prayer: मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी को बुधवार को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल गई. अब वह अपने दिवंगत पिता के लिए होने वाली प्रार्थना सभा में शामिल हो सकेंगे. शीर्ष कोर्ट ने उन्होंने पिता की प्रार्थना सभा में शामिल होने की अनुमति दे दी. अब्बास अंसारी को 10 से 12 जून तक कासगंज जेल से लाकर गाजीपुर जेल में रखा जाएगा. अब्बास अंसारी को तीन दिन तक पुलिस हिरासत में सुबह 9 बजे से शाम 6 तक अपने घर जाने की इजाजत होगी. उसके बाद 13 जून को उसे वापस कासगंज जेल लाया जाएगा. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस दौरान अब्बास अंसारी न कोई भाषण देगा और ना ही मीडिया से बात करेगा.

ये भी पढ़ें: Jyotiraditya Scindia Mother Death: केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां माधवी राजे सिंधिया का निधन

28 मार्च को हुई थी मुख्तार अंसारी की मौत

बता दें कि मुख्तार अंसारी की इसी साल 28 मार्च को उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में तबीयत खराब हो गई थी. उसके बाद उसे रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले आया, जहां उसकी मौत हो गई. उसके बाद मुख्तार अंसारी के शव को गाजीपुर के मोहम्मदाबाद में सुपुर्द-ए-खाक किया गया. मुख्तार अंसारी पिछले करीब 18 साल से जेल में बंद था. वहीं मुख्तार का बेटा अब्बास अंसाकी कई संगीन आपराधिक मुकदमों में आरोपी कासगंज जेल में बंद है.

ये भी पढ़ें: 'PM मोदी जन्मजात नेता, हमें भी ऐसे लीडर की जरूरत', पाकिस्तान-अमेरिकी अरबपति ने प्रधानमंत्री की तारीफ में पढ़े कसीदे

सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी याचिका

अब्बास अंसारी ने अपने पिता की याद में होने वाली फातिहा सभा में शामिल होने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. इस याचिका पर बुधवार (15 मई) को सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस के.वी. विश्वनाथन की पीठ ने सुनवाई की. जहां से उसे प्रार्थना सभा में शामिल होने की इजाजत मिल गई. बता दें कि अब्बास अंसारी अपने पिता मुख्तार अंसारी के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे. हालांकि, बाद में अदालत ने उन्हें परिवार वालों से मिलने की अनुमति दे दी थी. उसके बाद वह पुलिस हिरासत में ही अपने परिवार से मिल पाए थे.

ये भी पढ़ें: राजस्थान: झुंझुनूं की कोलिहान खदान हादसे में एक की मौत, 14 लोगों को किया गया रेस्क्यू