News Nation Logo

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कतर के NSA से मुलाकात की

कतर पहुंचकर विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने कतर (Qatar) के एनएसए मोहम्मद बिन अहमद अल-मसनद (Qatar NSA Mohammed bin Ahmed Al-Masnad) से मुलाकात की. विदेश मंत्री ने ट्वीट किया कि 'क्षेत्र और उससे आगे के विकास पर उनकी अंतर्दृष्टि की सराहना की.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 09 Jun 2021, 04:53:15 PM
S Jaishankar

S Jaishankar (Photo Credit: ANI)

highlights

  • कतर पहुंचे विदेश मंत्री एस जयशंकर
  • कतर और भारत के संबंधों की तारीफ की
  • कतर से कुवैत जाएंगे विदेश मंत्री

नई दिल्ली:

विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar) द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने और नए रास्तों को तलाशने के लिए बुधवार सुबह को कतर होते हुए कुवैत के तीन दिवसीय दौरे पर रवाना हुए हैं. कतर पहुंचकर विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने कतर (Qatar) के एनएसए मोहम्मद बिन अहमद अल-मसनद (Qatar NSA Mohammed bin Ahmed Al-Masnad) से मुलाकात की. विदेश मंत्री ने ट्वीट किया कि 'क्षेत्र और उससे आगे के विकास पर उनकी अंतर्दृष्टि की सराहना की. उन्होंने कोविड के खिलाफ भारत की लड़ाई में समर्थन और एकजुटता दिखाने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया.'

ये भी पढ़ें- दुनिया के दस सबसे कम रहने योग्य शहरों की लिस्ट में ढाका, कराची का नाम शामिल

एस जयशंकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कुवैती अमीर शेख नवाफ अल-अहमद अल-सबा के लिए लिखा पत्र भी ले गए हैं. विदेश मंत्री के तौर पर जयशंकर की यह पहली कुवैत यात्रा होगी. विदेश मंत्रालय ने कहा कि विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर, कुवैत के विदेश मंत्री और कैबिनेट मामलों के राज्य मंत्री, शेख अहमद नासिर अल-मोहम्मद अल-सबा के निमंत्रण पर 9-11 जून को कुवैत का दौरा करेंगे. 

विदेश मंत्रालय ने कहा कि यात्रा के दौरान वह उच्च स्तरीय बैठकें करेंगे और कुवैत में भारतीय समुदाय को भी संबोधित करेंगे. जयशंकर प्रधानमंत्री की ओर से कुवैत के अमीर को लिखा एक व्यक्तिगत पत्र भी ले जाएंगे. यह यात्रा दोनों देशों द्वारा ऊर्जा, व्यापार, निवेश, जनशक्ति और श्रम तथा सूचना प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत करने की एक रूपरेखा तैयार करने के लिए एक संयुक्त मंत्री स्तरीय आयोग स्थापित करने का निर्णय लेने के लगभग 3 महीने बाद हो रही है. 

ये भी पढ़ें- जितिन प्रसाद के बाद अब सचिन पायलट देंगे कांग्रेस को झटका !

कुवैती विदेश मंत्री शेख अहमद नासिर अल-मोहम्मद अल-सबा ने मार्च में भारत का दौरा किया था, जिसके दौरान दोनों पक्षों ने संयुक्त आयोग के गठन का फैसला किया. वर्ष 2021-22 में भारत और कुवैत के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 60वीं वर्षगांठ है. कुवैत में करीब दस लाख भारतीय रहते हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 09 Jun 2021, 04:40:20 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.