News Nation Logo

चेन्नई में रेड अलर्ट वापस, आज से कम बारिश की संभावना, अब तक 14 की मौत

चेन्नई के लिए जारी रेड अलर्ट को बंगाल की खाड़ी के उत्तरी तमिलनाडु तट को पार करने के बाद वापस ले लिया गया है. यह रेड अलर्ट चेन्नई सहित तमिलनाडु के आठ जिलों के लिए जारी किया गया था.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 12 Nov 2021, 09:44:11 AM
chennai Airport

chennai Airport (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • 75,000 से अधिक पुलिस अधिकारी मदद के लिए युद्धस्तर पर जुटे हैं
  • एनडीआरएफ की 18 टीमें तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में तैनात
  • अगले दो दिनों तक शहर में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना 

चेन्नई:

चेन्नई के लिए जारी रेड अलर्ट को बंगाल की खाड़ी के उत्तरी तमिलनाडु तट को पार करने के बाद वापस ले लिया गया है. यह रेड अलर्ट चेन्नई सहित तमिलनाडु के आठ जिलों के लिए जारी किया गया था. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, दबाव गुरुवार शाम 5.30 से 6.30 बजे के बीच चेन्नई के करीब उत्तरी तमिलनाडु तट को पार कर गया है. इसके पश्चिम उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और शुक्रवार की सुबह तक एक निम्न दबाव में कमजोर होने की संभावना है. आईएमडी ने कहा कि उत्तरी तटीय तमिलनाडु पर दबाव शुक्रवार की सुबह 12 बजे उत्तरी तमिलनाडु और आसपास इलाके में निम्न दबाव क्षेत्र में कमजोर हो जाएगा. तमिलनाडु में भारी बारिश और बांधों से अतिरिक्त पानी छोड़े जाने के कारण आई बाढ़ में अब तक 14 लोगों की मौत हो गई है.

यह भी पढ़ें : Tamil Nadu Rain Updates: अगले दो दिन चेन्नई में भारी बारिश की चेतावनी, स्कूल बंद 

चेन्नई हवाईअड्डे ने दोपहर 1.15 बजे से शाम 6 बजे के बीच तेज हवा के झोंकों की आशंका के बीच आगमन सेवा को निलंबित करने के बाद सामान्य परिचालन फिर से शुरू कर दिया है.  हवाईअड्डे ने ट्वीट करते हुए कहा है कि यात्रियों को उड़ान कार्यक्रम के लिए संबंधित एयरलाइन से संपर्क करने के लिए कहा गया है. वहीं चेन्नई और अन्य जिलों में लगातार चौथे दिन स्कूल और कॉलेज बंद रहे.

इस बीच चेन्नई में पिछले 15 घंटों से लगातार हुई भारी हुई बारिश के बाद प्रमुख सड़कों और आस-पड़ोस में पानी भर गया है. 65,000 से अधिक घरों में बिजली की आपूर्ति बाधित हुई है. वहीं रेल संचालन में देरी हुई और गुरुवार को लगभग छह घंटे के लिए उड़ान का आगमन रुक गया. अधिकारियों ने कहा कि पिछले 11 दिनों में भारी बारिश के कारण हुए नुकसान के कारण पूरे तमिलनाडु में 14 मौतें दर्ज की गई हैं. वहीं तमिलनाडु के कृषि मंत्री एम आर के पनीरसेल्वम के अनुसार, पिछले दो हफ्तों में हुई भारी बारिश ने कम से कम 1.45 लाख एकड़ में खड़ी कृषि फसल और 6,000 एकड़ में बागवानी फसल को जलमग्न कर दिया है.

युद्धस्तर पर जुटे हैं 75,000 से अधिक कर्मी

चेन्नई के कई हिस्से गुरुवार देर रात तक पानी में डूबे रहे. 75,000 से अधिक पुलिस अधिकारी और अन्य सरकारी अधिकारी नागरिकों की मदद के लिए युद्धस्तर पर जुटे हुए हैं. बांधों से अतिरिक्त पानी छोड़े जाने की वजह से चेन्नई और आसपास के इलाके पूरी तरह जलमग्न हो चुके हैं. वहीं बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण तमिलनाडु में भारी बारिश के बीच राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 18 टीमों को तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में तैनात किया गया है. इस बीच पानी को बाहर निकालने, नालियों को बंद करने, कचरा हटाने और सड़कों पर उखड़े पेड़ों को हटाने के लिए कई टीमें तैनात की है. गुरुवार को रात से हुई भारी बारिश ने लगभग पूरे शहर को जलमग्न कर दिया है. मायलापुर शहर, वेलाचेरी सहित आस-पड़ोस के कई हिस्सों में भारी पानी भर गया है. बारिश का पानी केके नगर और क्रोमपेट में सरकारी अस्पतालों में प्रवेश कर गया है. इस वजह से मरीजों को दूसरे अस्पताल में स्थानांतरित किया जा रहा है.

आस-पड़ोस में भरा पानी

उपनगरीय इलाके क्रोमपेट के पास हस्तिनापुरम के आसपास की सड़कें नदी की तरह दिख रही है जहां जलस्तर तीन फीट से अधिक बढ़ गया है. फाइव फर्लांग रोड जैसे कई स्थान जलमग्न हो चुका है. मुदिचुर, पेरुंगलाथुर और नंदीवरम-गुदुवनचेरी जैसे बाढ़ प्रभावित पड़ोस छोटे द्वीपों की तरह दिखाई दे रहे हैं. इन मोहल्लों से बिजली की आपूर्ति भी काट दी गई है.

सीएम स्टालिन ने बैठक की अध्यक्षता की

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने मंत्रियों के साथ चर्चा की और बारिश की स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्य सचिव वी इराई अंबू के नेतृत्व में राज्य के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की. सीएम ने विभिन्न जिलों में बारिश से संबंधित मुद्दों के प्रबंधन के लिए विशेष रूप से प्रतिनियुक्त अधिकारियों को राहत गतिविधियों में तेजी लाने और राहत शिविरों में गुणवत्तापूर्ण भोजन और चिकित्सा सुविधाएं सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने विशेष रूप से कावेरी डेल्टा क्षेत्र में फसल के नुकसान का आकलन करने के लिए सहकारिता मंत्री आई पेरियासामी की अध्यक्षता में छह सदस्यीय मंत्रिस्तरीय पैनल का गठन करने और राहत कार्य में तेजी लाने के लिए सरकार को एक रिपोर्ट सौंपने का भी आदेश दिया है.

क्या है मौसम विभाग का अनुमान

भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि डिप्रेशन चेन्नई के करीब पहुंच रहा है और इसके जल्द ही उत्तरी तमिलनाडु और चेन्नई के आसपास के दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों को पार करने की बहुत संभावना है. आईएमडी ने अगले दो दिनों तक शहर में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है. हालांकि दो दिन बाद फिर से बारिश में तेजी आ सकती है. 13 नवंबर के आसपास दक्षिण अंडमान के ऊपर दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है. बारिश से जुड़ी घटनाओं में अब तक 157 मवेशियों की मौत हो चुकी है, 1,146 झोपड़ियां और 237 घर प्रभावित हुए हैं.

First Published : 12 Nov 2021, 09:42:13 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.