News Nation Logo

ज्ञानव्यापी-शृंगार गौरी मामले पर कोर्ट के फैसले पर आए ये रियेक्शन

News Nation Bureau | Edited By : Shravan Shukla | Updated on: 12 Sep 2022, 05:03:35 PM
Gyanvapi

Gyanvapi (Photo Credit: File)

highlights

  • ज्ञानवापी-शृंगार गौरी पर कोर्ट का अहम फैसला
  • हिंदू पक्ष ने किया फैसले का स्वागत
  • केशव प्रसाद मौर्य बोले-विवाद न बढ़ाए जाए

नई दिल्ली:  

वाराणसी जिला कोर्ट ने ज्ञानवापी-शृंगार गौरी मामले पर अहम फैसला दिया है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हुई सुनवाई में कोर्ट ने हिंदू पक्ष की याचिका को सुनवाई योग्य माना है. कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष की आपत्तियों को खारिज कर दिया है. इस मामले में तमाम प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं, जिसमें केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस फैसले का स्वागत किया है. अनुराग ठाकुर ने कहा कि वर्षों से हिन्दू पक्ष की मांग चली आ रही थी. अब ये कोर्ट तय करेगा कि हिंदू समाज की मांग मानी जाएगी. जो भी कोर्ट फैसला करेगा, हम स्वीकार करेंगे. अभी के अदालत के निर्णय का स्वागत करता हूं. चाहे वह राम मंदिर हो या ज्ञान मंदिर, मैं यही कह सकता हूं कि इस फैसले के बाद सभी पार्टी के सभी लोगों ने शांति बनाए रखा है और इसे स्वीकार भी किया है.

विवाद उत्पन्न करने की जगह कोर्ट के फैसले का स्वागत हो

ज्ञानवापी मुद्दे पर वाराणसी जिला कोर्ट के फैसले पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का बयान आया है. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने वाराणसी जिला कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि कोर्ट ने काशी विश्वनाथ मंदिर और श्रृंगारगार गौरी माता मंदिर मामले को सुनवाई योग्य माना है. मैं भी सभी की तरह फैसले का स्वागत कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि वाराणसी जिला कोर्ट के फैसले का सभी लोगों को स्वागत करना चाहिए. इस मामले को लेकर कोई विवाद उत्पन्न करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि न्यायालय के सामने जो विषय रखे गए हैं उसके आधार पर सुनवाई हुई है. सुनवाई के बाद यह मामला सुनने योग्य है कि नहीं इस विषय पर कोर्ट ने फैसला दिया है. सभी लोग इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं, मैं भी स्वागत कर रहा हूं.

ये भी पढ़ें: ज्ञानवापी विवाद में लागू नहीं Places of Worship Act,क्या है पूरा कानून?

देवकीनंदन महाराज ने जताई खुशी

मथुरा में विश्व विख्यात कथवाचक ठाकुर देवकीनंदन महाराज ने शृंगार गौरी केस पर अदालत के आए फैसले पर खुशी जाहिर की. उन्होंने कोर्ट का भी शुक्रिया अदा किया और कहा है कि बहुसंख्यक होने के बाद भी हमारी भावनाओं के साथ खिलवाड़ हो रहा है. विदेशी आक्रांता ने जो हमारे मंदिरों को तोड़कर मस्जिद बना ली थी, आज भी उनसे मुक्ति नहीं मिल पा रही है.  देवकीनंदन महाराज ने वाराणसी कोर्ट के फैसले को ऐतिहासिक करार दिया है.

दानिश आजाद अंसारी बोले-न्यायपालिका का सम्मान हो

ज्ञानवापी मामले में न्यायालय के फैसले पर बलिया पहुंचे राज्य मंत्री दानिश आजाद अंसारी का बयान आया है. उन्होंने कहा कि मैं न्यायपालिका के फैसले का सम्मान करता हूं. न्यायपालिका सभी पक्षों, सभी तथ्यों व सबकी बातें को सुनता है. ऐसे में हम सभी को न्यायपालिका के फैसले का सम्मान करना चाहिए.

हिंदुओं के लिए बड़ी सफलता

इस मामले में राजस्थान से बीजेपी सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने कहा कि ज्ञानवापी के मुद्दे पर कहा कि ये हिंदुओं के लिए बड़ी सफलता है. उन्होंने कहा कि ये हिंदुओ की बहुत पुरानी मांग है, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है. उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही हिंदुओं को पूजा करने का भी मौका मिल जाएगा.

First Published : 12 Sep 2022, 05:03:35 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.