News Nation Logo
Banner

हाथरस कांड पर राहुल गांधी का CM योगी पर वार- कुछ लोग दलित-मुस्लिमों को इंसान नहीं समझते

उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras Case) में दलित लड़की के साथ कथित गैंगरेप और हत्या के मामले में जमकर राजनीति हो रही है. मामला सियासी अखाड़े से होते हुए सड़कों तक पहुंच चुका है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 11 Oct 2020, 10:48:39 AM
Rahul Gandhi

राहुल का योगी पर वार- कुछ लोग दलित-मुस्लिमों को इंसान नहीं समझते (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • हाथरस कांड पर सियासत, सरकार बैकफुट पर
  • राहुल गांधी लगातार बोल रहे सरकार पर वार
  • बीते दिनों पीड़ित परिवार से भी मिले थे राहुल
  • 14 सितंबर को हुआ था दलित युवती से गैंगरेप

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras Case) में दलित लड़की के साथ कथित गैंगरेप और हत्या के मामले में जमकर राजनीति हो रही है. मामला सियासी अखाड़े से होते हुए सड़कों तक पहुंच चुका है. इस मामले में कांग्रेस अब तक सबसे ज्यादा मुखर रही है और इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोला है. राहुल ने ट्वीट किया कि कई भारतीय दलित, मुसलमान और आदिवासियों को इंसान समझते ही नहीं हैं.

यह भी पढ़ें: अलवर में नाबालिग लड़की को मारी गोली, प्रियंका-राहुल अब भी चुप?

हाथरस केस को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज फिर एक ट्वीट करते हुए लिखा, 'शर्मनाक सच्चाई यह है कि कई भारतीय दलित, मुस्लिम और आदिवासियों को मानव नहीं मानते हैं. मुख्यमंत्री और उनकी पुलिस का कहना है कि किसी का बलात्कार नहीं किया गया, क्योंकि उनके लिए और कई अन्य भारतीयों के लिए वह (पीड़ित दलित लड़की) NO ONE थी.'

बता दें कि हाथरस कांड को लेकर यूपी सरकार बैकफुट पर आ चुकी है और ऐसे में विपक्ष ने सरकार को निशाने पर ले रखा है. कांग्रेस भी लगातार बीजेपी सरकार पर हमला बोल रही है. राहुल गांधी लगातार इस मसले पर बीजेपी सरकार को घेरे हुए हैं. पिछले दिनों खुद राहुल और प्रियंका गांधी हाथरस गए थे और पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी.

यह भी पढ़ें: ओवैसी ने मोहन भागवत पर किया वार, कहा- हमें सेकेंड क्लास नागरिक बनाना चाहते हैं वो

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 वर्षीय एक दलित लड़की से 14 सितंबर को चार लोगों ने कथित तौर पर बलात्कार किया था. चोटों के चलते पखवाड़े भर बाद दिल्ली के एक अस्पताल में पीड़िता की मौत हो गई, जिसके बाद 30 सितंबर को हाथरस में स्थानीय प्रशासन ने उसके शव का रातों-रात दाह संस्कार कर दिया. बाद में सरकार ने फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी की रिपोर्ट के हवाले से मामले में बलात्कार के आरोप से इनकार किया है. केंद्र ने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी है.

First Published : 11 Oct 2020, 10:48:39 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो