News Nation Logo

राहुल गांधी ने पीएम मोदी की 'मन की बात' पर कसा तंज, की 'स्टूडेंट की बात'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात में खिलौनों को अपना हथियार बनाया है. प्रधानमंत्री ने खिलौना उद्योग में लोकल फॉर वोकल और आत्मनिर्भर बनने की बात की. इसके जरिए प्रधानमंत्री ने चीन को भी एक संदेश पहुंचाने की कोशिश की है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 30 Aug 2020, 01:08:41 PM
Rahul Gandhi

राहुल ने PM मोदी की 'मन की बात' पर कसा तंज, की 'स्टूडेंट की बात' (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात में खिलौनों को अपना हथियार बनाया है. प्रधानमंत्री ने खिलौना उद्योग में लोकल फॉर वोकल और आत्मनिर्भर बनने की बात की. इसके जरिए प्रधानमंत्री ने चीन को भी एक संदेश पहुंचाने की कोशिश की है. मगर नरेंद्र मोदी ने नीट और जेईई परीक्षा के मुद्दे पर मन की बात में कोई जिक्र नहीं किया. इसी को लेकर अब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर हमला बोला है.

यह भी पढ़ें: मन की बात: मोदी बोले- आज वर्चुअल गेम्स और खिलौना सेक्टर में भूमिका निभाने अवसर

प्रधानमंत्री के 'मन की बात' कार्यक्रम खत्म होने के कुछ ही मिनटों बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक ट्वीट किया. राहुल ने 'मन की बात नहीं, स्टूडेंट की बात' की है. ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'जेईई-एनईईटी के इच्छुक लोग चाहते थे कि प्रधानमंत्री "मन की बात" कार्यक्रम में "परीक्षा पर चर्चा" करेंगे, मगर पीएम ने "खिलौने पर चर्चा" की है.' 

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थानीय खिलौनों की समृद्ध भारतीय परंपरा की विस्तृत चर्चा करते हुए रविवार को स्टार्ट-अप एवं नए उद्यमियों से खिलौना उद्योग से बड़े पैमाने पर जुड़ने का आह्वान किया और कहा कि अब स्थानीय खिलौनों के लिए आवाज बुलंद करने का वक्त आ गया है. आकाशवाणी पर मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ की 68वीं कड़ी में प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्व खिलौना उद्योग सात लाख करोड़ रुपये से भी अधिक का है लेकिन इसमें भारत की हिस्सेदारी बहुत कम है.

उद्यमी, सभी इसके दायरे में आते हैं. इसे आगे बढ़ाने के लिए देश को मिलकर मेहनत करनी होगी. प्रधानमंत्री ने स्टार्ट-अप और नए उद्यमियों से खिलौना बनाने का आह्वान करते हुए कहा, 'अब सभी के लिए लोकल खिलौनों के लिए वोकल होने का समय है. आइए, हम अपने युवाओं के लिए कुछ नए प्रकार के, अच्छी गुणवत्ता वाले खिलौने बनाते हैं. खिलौना वो हो जिसकी मौजूदगी में बचपन खिले भी, खिलखिलाए भी. हम ऐसे खिलौने बनाएं, जो पर्यावरण के भी अनुकूल हों.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 30 Aug 2020, 12:54:29 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.