News Nation Logo

हिंसा समाधान नहीं है, कानून को वापस लो : राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है और इस कानून को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए. उन्होंने ट्वीट कर कहा, हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है. चोट किसी को भी लगे, नुकसान हमारे देश का ही होगा.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 26 Jan 2021, 03:10:15 PM
Rahul Gandhi

राहुल गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

किसान की ट्रेक्टर रैली के बेकाबू हो जाने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है और इस कानून को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए. उन्होंने ट्वीट कर कहा, हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है. चोट किसी को भी लगे, नुकसान हमारे देश का ही होगा. देशहित के लिए कृषि-विरोधी कानून वापस लो!

यह भी पढ़ें : लाल किला पर उपद्रवी किसानों ने News Nation की टीम पर हमला बोला, संवाददाता और कैमरामैन से मारपीट

उल्लेखनीय है कि आंदोलनकारी किसान लालकिले तक पहुंच गए हैं और पुलिस उन्हें नियंत्रित करने की कोशिश कर रही है. कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों का ट्रैक्टर मार्च पर हिंसक हो गया है. कई जगहों पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प की तस्वीरें आई हैं. दिल्ली की सीमाओं पर किसानों ने पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ दिए हैं. बैरिकेडिंग के लिए लगाई गई बसों और गाड़ियों को भी किसानों ने तोड़ दिया है. किसान हिंसा पर उतारू हो गए हैं. कई जगहों पर पुलिस ने बवाल मचा रहे किसानों को तितर बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया है. कई जगहों पर आंसू गैस के गोले छोड़े गए हैं. 

यह भी पढ़ें : आईटीओ पर किसान आंदोलन के दौरान चली गोली, एक प्रदर्शनकारी की मौत

बता दें कि सुबह गणतंत्र दिवस की परेड खत्म होते ही किसानों का हंगामा दिल्ली की हर सीमा पर होना शुरु हो गया था मानों पहले से ही ये तय कर लिया गया हो कि एक ही समय एक साथ हर एक सीमारेखा पर आंदोलनकारियों ने हंगामा शुरू कर दिया था. इस बीच आईटीओ पर प्रदर्शनकारियों ने एक डीटीसी बस में जमकर तोड़-फोड़ की और पुलिस इन प्रदर्शनकारियों को रोकने में नाकाम रही. इस बीच गोली चलने की आवाज भी आई और एक 30 वर्षीय प्रदर्शनकारी की मौत हो गई. 

 

First Published : 26 Jan 2021, 02:37:21 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.