News Nation Logo
Banner

महबूबा मुफ्ती के बयान से भड़के प्रदर्शनकारियों ने PDP दफ्तर पर बोला धावा, तिरंगा लगाने की कोशिश की

आज जम्मू में महबूबा मुफ्ती का विरोध करने के लिए कई युवा उनके दफ्तर पहुंच गए और तिरंगा झंडा लगाने की कोशिश की.

Written By : शाहनवाज खान | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 25 Oct 2020, 02:08:43 PM
Jammu Protest

महबूबा मुफ्ती के बयान से भड़के लोगों ने PDP दफ्तर पर बोला धावा (Photo Credit: फ़ाइल फोटो)

जम्मू :

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री और पीपीडी की नेता महबूबा मुफ्ती के तिरंगे झंडे को लेकर दिए गए विवादित बयान पर हंगामा मचा है. महबूबा मुफ्ती के खिलाफ जम्मू में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं. आज भी जम्मू में महबूबा मुफ्ती का विरोध करने के लिए कई युवा उनके दफ्तर पहुंच गए और तिरंगा झंडा लगाने की कोशिश की. इससे पहले इन्हीं युवाओं में से 3 युवाओं ने शनिवार शाम को पीडीपी दफ्तर में अंदर दाखिल होकर झंडा फैराने की कोशिश की थी, जिसे पुलिस ने कामयाब नहीं होने दिया. इस दौरान इन लोगों की पीडीपी नेता से जुबानी जंग भी हुई. जिसके बाद पुलिस ने इन्हें यहां से लौटा दिया था.

यह भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती के बयान पर रविशंकर प्रसाद का पलटवार, बोले- अब 370 नहीं होगा बहाल

आज एक बार फिर सैंकड़ों की तादाद में ये युवा हाथों में तिरंगा झंडा लेकर पीडीपी के कार्यालय पहुंच गए. जहां महबूबा मुफ्ती के खिलाफ नारेबाजी की और वंदे मातरम् का जयघोष किया. युवाओं ने एक बार फिर पीडीपी दफ्तर में तिरंगा लगाने की कोशिश की, लेकिन भारी तादाद में मौजूद पुलिस ने उन्हें आगे बढ़ने नहीं दिया. काफी देर तक पुलिस और युवाओं के बीच झंडा लगाने को लेकर बहस होती रही, लेकिन पुलिस ने कानून व्यवस्ता का हवाला देते हुए प्रदर्शनकारियों को वापस भेज दिया.

यह भी पढ़ें: जम्मू में महबूबा मुफ्ती के खिलाफ तिरंगा रैली, पाकिस्तान भेजने की मांग 

उल्लेखनीय है कि महबूबा मुफ्ती के तिरंगे को लेकर दिए बयान के खिलाफ लगातार पूरे देश में गुस्सा देखा जा रहा है. जम्मू में खास तौर पर लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं. महबूबा मुफ्ती को गिरफ्तार करने और उन्हें पाकिस्तान भेजने की मांग हो रही है. बता दें कि महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा था कि उन्हें तब तक चुनाव लड़ने या राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा उठाने में कोई दिलचस्पी नहीं है, जब तक पिछले साल पांच अगस्त को लागू किए गए संवैधानिक बदलाव वापस नहीं लिए जाते. उन्होंने कहा था कि वह तिरंगे को तभी उठाएंगी जब तत्कालीन राज्य के अलग ध्वज को बहाल कर दिया जाएगा.

First Published : 25 Oct 2020, 01:46:04 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो