News Nation Logo

अंतर्राष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाओं के परिचालन पर रोक 30 नवंबर तक बढ़ी

भारतीय विमानन नियामक ने एक परिपत्र में कहा कि हालांकि मामला दर मामला के आधार पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा चुनिंदा मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय निर्धारित उड़ानों के परिचालन की अनुमति दी जा सकती है.

Bhasha | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 28 Oct 2020, 03:48:02 PM
Flight

Flight (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस महमारी के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाओं के परिचालन पर रोक को 30 नवम्बर तक बढ़ा दिया गया है. भारतीय विमानन नियामक ने एक परिपत्र में कहा कि हालांकि मामला दर मामला के आधार पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा चुनिंदा मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय निर्धारित उड़ानों के परिचालन की अनुमति दी जा सकती है. कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत में 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाएं निलंबित हैं. 

यह भी पढ़ें: निकिता केस: हापुड़ के गांव में चल रही पंचायत, आरोपियों को फांसी की मांग

कुछ देशों के लिए विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ान सेवाओं का परिचालन 
हालांकि, मई से ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत और जुलाई से द्विपक्षीय ‘एयर बबल’ व्यवस्था के तहत कुछ देशों के लिए विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ान सेवाओं का परिचालन हो रहा है. दो देशों के बीच ‘एयर बबल समझौता’ के तहत, विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का उनके क्षेत्र के बीच उन देशों की विमानन कंपनियों द्वारा परिचालन किया जा सकता है. भारत ने करीब 18 देशों के साथ ‘एयर बबल’ समझौता किया है. देश में घरेलू उड़ान सेवा करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 25 मई से दोबारा शुरू की गई थी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 28 Oct 2020, 03:13:49 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.