News Nation Logo

गणतंत्र दिवस परेड में दिखाई जाएगी कोरोना वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया

प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत जैव प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से निकाली जाने वाली झांकी में दिखाया जाएगा कि कैसे भारत हर स्तर पर रणनीतिक कार्यप्रणाली और बहुप्रचारित सामूहिक व्यवहार परिवर्तन को अपनाकर कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हुआ है.

IANS | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 22 Jan 2021, 05:03:07 PM
Corona vaccine will be shown in Republic Day parade

गणतंत्र दिवस परेड में दिखाई जाएगी कोरोना वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया (Photo Credit: IANS)

नई दिल्ली:  

राष्ट्रीय राजधानी के राजपथ (National Capital Rajpath) पर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) के दौरान घातक कोविड-19 वायरस के खिलाफ वैक्सीन (Vaccine) बनाने की प्रक्रिया भी दिखाई जाएगी. भारत में दो स्वदेशी वैक्सीन, कोविशिल्ड और कोवैक्सीन (Corona Vaccine) तैयार की गई हैं. देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण कार्यक्रम 16 जनवरी 2021 से शुरू हो चुका है. अब तक भारत में 1,53,032 लोग जानलेवा वायरस की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं देश में कुल 1,06,25,428 कोरोना पॉजिटव मामले सामने आ चुके हैं.

यह भी पढ़ें : दिल्ली: भरोसा जीत रही कोरोनावायरस वैक्सीन, कई अस्पतालों ने समय से पहले हासिल किया लक्ष्य

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत जैव प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से निकाली जाने वाली झांकी में दिखाया जाएगा कि कैसे भारत हर स्तर पर रणनीतिक कार्यप्रणाली और बहुप्रचारित सामूहिक व्यवहार परिवर्तन को अपनाकर कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हुआ है. झांकी का विषय (थीम) कोविड के खिलाफ लड़ाई में आत्मनिर्भर भारत अभियान है.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में 5942 लोगों को लगाई गई कोरोनावायरस वैक्सीन, नहीं आए 2158 लोग

झांकी में विभिन्न प्रक्रियाओं के माध्यम से वैक्सीन (टीका) के विकसित होने की प्रक्रिया को दर्शाया जाएगा. इस दौरान वैज्ञानिक की एक प्रतिमा को कोरोनावायरस वैक्सीन के साथ दिखाई जाएगी, जो मानव जाति को बचाने के लिए ऐतिहासिक उपलब्धि को दर्शाएगी.

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस: चिली ने चीनी वैक्सीन Sinovac को दी मंजूरी

इस प्रदर्शनी को पांच खंडों में विभाजित किया गया है, जिनमें वैक्सीन बनाने की शुरूआती प्रक्रिया से लेकर स्टोरेज सिस्टम और टीकाकरण की प्रक्रिया दर्शाई जाएगी. इसके साथ ही वैक्सीन अनुसंधान प्रयोगशाला, वैक्सीन उत्पादन और नैदानिक परीक्षण (क्लीनिकल ट्रायल) की झलक भी दिखाई जाएगी. विभाग के एक अधिकारी ने कहा, "केबिन के बाहर व्यक्ति पर किए गए तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल को भी दिखाया जाएगा."

First Published : 22 Jan 2021, 04:53:13 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.