News Nation Logo

शिक्षा वेबिनार में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- नॉलेज और रिसर्च को सीमित रखना बहुत बड़ा अन्याय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शिक्षा वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा है कि आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के लिए देश के युवाओं में आत्मविश्वास उतना ही जरूरी है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 03 Mar 2021, 12:07:36 PM
PM Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Photo Credit: ANI)

highlights

  • शिक्षा और कौशल विकास पर वेबिनार का आयोजन
  • शिक्षा वेबिनार में शामिल हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • बोले- आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मविश्वास जरूरी

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आत्मनिर्भर भारत के लिए शिक्षा, अनुसंधान और कौशल विकास के महत्व को लेकर आयोजित सत्र को संबोधित करते हुए कहा है कि आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के लिए देश के युवाओं में आत्मविश्वास उतना ही जरूरी है. आत्मविश्वास तभी आता है, जब युवा को अपनी शिक्षा, अपनी ज्ञान पर पूरा विश्वास हो. उन्होंने कहा कि आत्मविश्वास तभी आता है, जब उसको ऐहसास होता है कि उसकी पढ़ाई, उसे अपना काम करने का अवसर और जरूरी स्किल दिया जा रहा हो. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति इसी सोच के साथ बनाई गई है.

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार पर बरसे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, बताई भारत में बेरोजगारी की वजह

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस वर्ष के बजट में हेल्थ के बाद जो दूसरा सबसे बड़ा फोकस है, वो एजुकेशन, स्किल, रिसर्च और इनोवेशन पर ही है. उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में शिक्षा को रोजगार और उद्यमी क्षमताएं से जोड़ने का जो प्रयास किया गया है, ये बजट उनको और विस्तार देता है. इन्हीं प्रयासों का परिणाम है कि आज वैज्ञानिक प्रकाशन के मामले में भारत टॉप थ्री देशों में आ चुका है. नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहली बार देश के स्कूलों में अटल टिंकरिंग लैब्स से लेकर उच्च संस्थानों में अटल ऊष्मायन केंद्र तक पर फोकस किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि अपनी नॉलेज को, रिसर्च को, सीमित रखना देश के सामर्थ्य के साथ बहुत बड़ा अन्याय है. स्पेस हो, एटोमिक एनर्जी हो, DRDO हो, एग्रीकल्चर हो, ऐसे अनेक सेक्टर्स के दरवाजे अपने प्रतिभाशाली युवाओं के लिए खोले जा रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में स्थानीय भाषा के ज्यादा से ज्यादा उपयोग के लिए प्रोत्साहन दिया गया है. अब ये सभी शिक्षाविदों का, हर भाषा के जानकारों का दायित्व है कि देश और दुनिया का अच्छी कटेंट भारतीय भाषाओं में कैसे तैयार हो.

यह भी पढ़ें : चीन दुनिया का पहला रेडार कार्बन डाइऑक्साइड उपग्रह लॉन्च करेगा 

प्रधानमंत्री मोदी ने हाइड्रोजन मिशन का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि फ्यूचर फ्यूल, ग्रीन एनर्जी, हमारी ऊर्जा में आत्मनिर्भरता के लिए बहुत जरूरी है. इसलिए बजट में घोषित हाइड्रोजन मिशन एक बहुत बड़ा संकल्प है. नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत ने हाइड्रोजन वाहन का टेस्ट कर लिया है. अब हाइड्रोजन को ट्रांसपोर्ट के फ्यूल के रूप में उपयोगिता और इसके लिए खुद को इंडस्ट्री रेडी बनाने के लिए अब हमें मिलकर आगे बढ़ना होगा.

प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों का जिक्र भी अपने भाषण में किया. उन्होंने कहा, 'किसानों की आय बढ़ाने के लिए उनका जीवन बेहतर बनाने के लिए बायोटेक्नोलॉजी से जुड़ी रिसर्च में जो साथी लगे हैं, देश को उनसे बहुत उम्मीदें हैं. मेरा इंडस्ट्री के तमाम साथियों से आग्रह है कि इसमें अपनी भागीदारी को बढ़ाएं.' उन्होंने यभी कहा कि आज भारत के टैलेंट की पूरी दुनिया में डिमांड है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 Mar 2021, 12:07:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.