News Nation Logo
Banner

'वैभव' समिट में PM मोदी ने कहा-किसानों की मदद के लिए टॉप क्लास रिसर्च चाहते हैं, वैज्ञानिकों को किया आमंत्रित

अपने संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं उन वैज्ञानिकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने आज अपने सुझाव और विचार पेश किए. आपने कई विषयों को शानदार ढंग से कवर किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 02 Oct 2020, 11:45:57 PM
pm narendra modi address

पीएम वैश्विक भारतीय वैज्ञानिकों को संबोधित किए (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को गांधी जयंती के अवसर पर वैश्विक भारतीय वैज्ञानिक (वैभव) शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया. यह सम्मेलन वैश्विक और प्रवासी भारतीय अनुसंधानकर्ताओं और शिक्षाविदों को एक मंच प्रदान करता है. पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्मेलन का उद्घाटन किए. इसके बाद वो वैश्विक भारतीय वैज्ञानिकों को संबोधित किया. 

अपने संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं उन वैज्ञानिकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने आज अपने सुझाव और विचार पेश किए. आपने कई विषयों को शानदार ढंग से कवर किया है. आपमें से अधिकांश ने अपने विदेशी समकक्षों के साथ भारतीय अकादमिक और अनुसंधान पारिस्थितिकी तंत्र में अधिक सहयोग बी / डब्ल्यू के महत्व पर प्रकाश डाला.

भारत सरकार ने अनुसंधान को बढ़ावा देने की दिशा में कई काम किए हैं 

शिखर सम्मेलन ने पीएम मोदी ने कहा कि भारत सरकार ने वैज्ञानिक अनुसंधान और इनोवेशन को बढ़ावा देने के लिए कई उपाय किए हैं. विज्ञान सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन की दिशा में हमारे प्रयासों के मूल में है.

इसे भी पढ़ें: गांधी जयंती: पीएम मोदी पहुंचे गांधी स्मृति, प्रार्थना सभा में लिया भाग

वैभव समिट महान दिमागों का संगम हैं 

'वैभव' समिट को पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि VAIBHAV शिखर सम्मेलन भारत और दुनिया से विज्ञान और नवाचार का जश्न मनाता है. मैं इसे सच्चा 'संगम' कहूंगा या महान दिमागों का संगम.

 कृषि अनुसंधान वैज्ञानिकों ने बहुत मेहनत की है

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'हम अपने किसानों की मदद के लिए शीर्ष श्रेणी के वैज्ञानिक अनुसंधान चाहते हैं. हमारे कृषि अनुसंधान वैज्ञानिकों ने दालों के हमारे उत्पादन को बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत की है. आज हम दाल का बहुत ही कम हिस्सा आयात करते हैं. हमारा खाद्यान्न उत्पादन नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा है.

और पढ़ें: हाथरस मामले पर बोली कांग्रेस- योगी अगर आपकी भी बेटी होती तो समझ में आता दर्द

युवा अधिक से अधिक विज्ञान में रुची दिखाएं 

उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि अधिक से अधिक युवा विज्ञान में रुचि विकसित करें. उसके लिए, हमें इतिहास और विज्ञान के इतिहास के साथ अच्छी तरह से वाकिफ होना चाहिए.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के आह्वान में वैश्विक कल्याण का नजरिया शामिल है. इस सपने को साकार करने के लिए, मैं आप सभी को आमंत्रित करता हूं और आपका समर्थन चाहता हूं.

First Published : 02 Oct 2020, 07:23:30 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो