News Nation Logo

भ्रष्टाचार का ये वंशवाद देश को दीमक की तरह खोखला कर सकता है, बोले पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थोड़ी देर में सतर्कता एवं भ्रष्टाचार-विरोधी एक राष्ट्रीय सम्मेलन का मंगलवार को उद्घाटन किया. पीएम नरेंद्र मोदी ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार ना सिर्फ संस्था को कमजोर कर देता है बल्कि समाज को भी नुकसान पहुंचा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 27 Oct 2020, 05:23:35 PM
narendra modi k

पीएम नरेंद्र मोदी (Photo Credit: @narendramodi)

नई दिल्ली :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थोड़ी देर में सतर्कता एवं भ्रष्टाचार-विरोधी एक राष्ट्रीय सम्मेलन का मंगलवार को उद्घाटन किया. पीएम नरेंद्र मोदी ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार ना सिर्फ संस्था को कमजोर कर देता है बल्कि समाज को भी नुकसान पहुंचा है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि करप्शन पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर बीते कुछ सालों से देश आगे बढ़ रहा है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि भ्रष्टाचार हो, आर्थिक अपराध हो, ड्रग्स हो, मनी लॉड्रिंग हो, या फिर आतंकवाद या टेरर फंडिंग हो, ये सब एक दूसरे से जुड़े होते हैं. 

सरदार साहब एक प्रशासनिक सिस्टम के आर्किटेक्ट भी थे

उन्होंने कहा कि आज से विजिलेंस अवेयरनेस सप्ताह की भी शुरुआत हो रही है. कुछ ही दिनों में देश सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की जयंती मनाने की भी तैयारी कर रहा है. सरदार साहब एक भारत-श्रेष्ठ भारत के साथ ही देश के प्रशासनिक सिस्टम के आर्किटेक्ट भी थे.

पटेल जी ने ऐसी व्यवस्था बनाने का प्रयास किया जिसकी नीतियों में नैतिकता हो

उन्होंने कहा कि पहले गृह मंत्री के रूप में  सरदार वल्लभ भाई पटेल जी ने ऐसी व्यवस्था बनाने का प्रयास किया जिसकी नीतियों में नैतिकता हो. बाद के दशकों में कुछ अलग ही परिस्थितियां बनी.हजारों करोड़ के घोटाले, शैल कंपनियों का जाल, टैक्स चोरी, ये सब वर्षों तक चर्चा के केंद्र में रहा.

'सतर्क भारत, समृद्ध भारत' में बहुत भूमिका है

उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में  CBI के साथ-साथ अन्य एजेंसियां भी हिस्सा ले रही हैं. एक तरह से इन तीन दिनों तक लगभग वो सभी एजेंसियां एक प्लेटफॉर्म पर रहेगी जिनकी 'सतर्क भारत, समृद्ध भारत' में बहुत भूमिका है.

भ्रष्टाचार से देश के विकास को ठेस पहुंचती है

भ्रष्टाचार केवल कुछ रुपयों की ही बात नहीं होती. भ्रष्टाचार से देश के विकास को ठेस पहुंचती है. भ्रष्टाचार सामाजिक संतुलन को तहस-नहस कर देता है. देश की व्यवस्था पर जो भरोसा होना चाहिए, भ्रष्टाचार उस भरोसे पर हमला करता है. इसलिए भ्रष्टाचार से निपटना एक कलेक्टिव रिस्पोंसिबिलिटी है.

गरीबी से लड़ रहे हमारे देश में भ्रष्टाचार का रत्ती भर भी स्थान नहीं है

2016 में मैंने कहा था कि गरीबी से लड़ रहे हमारे देश में भ्रष्टाचार का रत्ती भर भी स्थान नहीं है.  भ्रष्टाचार का सबसे ज्यादा नुकसान अगर कोई उठाता है तो वो देश का गरीब ही उठाता है.  ईमानदार व्यक्ति को परेशानी आती है.

इसे भी पढ़ें:हम गरीबों के नाम पर राजनीति नहीं करते, अंत्योदय हमारा लक्ष्य : पीएम मोदी

DBT के माध्यम से गरीबों को मिलने वाला लाभ 100 प्रतिशत गरीबों तक सीधे पहुंच रहा है

उन्होंने बताया कि अब DBT के माध्यम से गरीबों को मिलने वाला लाभ 100 प्रतिशत गरीबों तक सीधे पहुंच रहा है. अकेले DBT की वजह से 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा गलत हाथों में जाने से बच रहे हैं. आज ये गर्व के साथ कहा जा सकता है कि घोटालों वाले उस दौर को देश पीछे छोड़ चुका है. 

विजिलेंस सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए कानूनी सुधार किए गए

पीएम मोदी ने कहा कि देश के विजिलेंस सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए कानूनी सुधार किए गए हैं. कालाधन और बेनामी संपत्ति पर जो कानून बनाए गए हैं, आज उसका उदाहरण दुनिया के अन्य देशों में दिया जा रहा है.

भ्रष्टाचार का ये वंशवाद देश को दीमक की तरह खोखला कर सकता

पीएम मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार का ये वंशवाद देश को दीमक की तरह खोखला कर सकता है. भ्रष्टाचार के खिलाफ एक भी केस में ढिलाई उसी केस तक सीमित नहीं रहती बल्कि वो एक भविष्य के भ्रष्टाचार के लिए नींव बनाती है.

और पढ़ें:गलवान झड़प पर बोले माइक पोम्पियो-  India के साथ खड़ा है US, भारत के जवानों...

भ्रष्टाचार रोकने की जिम्मेदारी हम सब पर है

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार रोकने की जिम्मेदारी हम सब पर है. लेकिन एजेंसियों पर ज्यादा है. जब भ्रष्टाचार होता है तो इसकी कहानी मीडिया बयान करती है. लेकिन क्या कार्रवाई हुई इसे भी सामने लाना चाहिए. ताकि भविष्य में लोग भ्रष्टाचार करने से डरें. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 27 Oct 2020, 03:44:32 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.