News Nation Logo

जलियांवाला बाग का नया परिसर राष्ट्र को होगा समर्पित, 28 अगस्त को PM मोदी करेंगे उद्घाटन

जलियांवाला बाग का केंद्रीय स्‍थल माने जाने वाले 'ज्वाला स्मारक' की मरम्मत करने के साथ-साथ इसका पुनर्निर्माण किया गया है. यहां स्थित तालाब को एक 'लिली तालाब' के रूप में फिर से विकसित किया गया है.  

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 27 Aug 2021, 08:52:08 AM
Jalliawala Bagh

जलियांवाला बाग स्मारक राष्ट्र को होगा समर्पित  (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • रिनोवेटेड जलियांवाला बाग स्मारक राष्ट्र को होगा समर्पित
  • पीएम मोदी संग्रहालय दीर्घा का भी करेंगे उद्घाटन

अमृतसर:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जलियांवाला बाग स्मारक के पुनर्विकास किए गए परिसर का उद्घाटन शनिवार 28 अगस्त को करेंगे.  पीएम मोदी 28 अगस्त को शाम 6:25 बजे, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जलियांवाला बाग को राष्ट्र को समर्पित करेंगे. इस आयोजन के दौरान परिसर को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा की गई कोशिशों को भी दर्शाया जाएगा. शहीदी कुएं की मरम्मत की गई है और नवविकसित उत्तम संरचना के साथ इसका पुनर्निर्माण किया गया है. पीएमओ ने कहा कि लंबे समय से बेकार पड़ी और कम उपयोग वाली इमारतों का दोबारा अनुकूल इस्‍तेमाल सुनिश्चित करते हुए चार संग्रहालय दीर्घाएं निर्मित की गई हैं. उसके मुताबिक, ‘ये दीर्घाएं उस अवधि के दौरान पंजाब में घटित विभिन्‍न घटनाओं के विशेष ऐतिहासिक महत्‍व को दर्शाती हैं. इन घटनाओं को दिखाने के लिए श्रव्य-दृश्य प्रौद्योगिकी के माध्यम से प्रस्तुति दी जाएगी जिसमें मैपिंग और थ्री डी चित्रण के साथ-साथ कला एवं मूर्तिकला अधिष्ठापन भी शामिल हैं.’

यह भी पढ़ेंः कैप्टन अमरिंदर और सिद्धू की लड़ाई में फंसी कांग्रेस, और बढ़ेगा टकराव!

यह इमारत लंबे समय से बेकार पड़ी थी. इसका उपयोग भी काफी कम था. इसलिए इमारतों का दोबारा उपयोग में लाने के लिए चार संग्रहालय दीर्घाएं निर्मित की गई हैं. ये दीर्घाएं उस अवधि के दौरान पंजाब में घटित विभिन्‍न घटनाओं के विशेष ऐतिहासिक महत्‍व को दर्शाती हैं. इन घटनाओं को दिखाने के लिए श्रव्य-दृश्य प्रौद्योगिकी के माध्यम से प्रस्तुति दी जाएगी, जिसमें मैपिंग और 3डी चित्रण के साथ-साथ कला एवं मूर्तिकला भी शामिल हैं.

लाइट एंड साउंड शो से दर्शाई जाएंगी घटनाएं
13 अप्रैल, 1919 को घटित विभिन्‍न घटनाओं को दर्शाने के लिए एक साउंड एंड लाइट शो की व्‍यवस्‍था भी की गई है. इस परिसर में विकास से जुड़ी कई पहल की गई हैं. पंजाब की स्थानीय शैली के अनुसार धरोहर संबंधी विस्तृत पुनर्निर्माण कार्य किए गए हैं. शहीदी कुएं की मरम्मत की गई है और नवविकसित उत्तम संरचना के साथ इसका पुनर्निर्माण किया गया है. 

यह भी पढ़ेंः अमेरिका की आतंकियों को चेतावनी - न भूलेंगे, न माफ करेंगे; चुन-चुनकर मारेंगे

इस बाग का केंद्रीय स्‍थल माने जाने वाले ‘ज्वाला स्मारक’ की मरम्मत करने के साथ-साथ इसका पुनर्निर्माण किया गया है और वहां स्थित तालाब को एक ‘लिली तालाब’ के रूप में फिर से विकसित किया गया है तथा लोगों को आने-जाने में सुविधा के लिए यहां स्थित मार्गों को चौड़ा किया गया है. पीएमओ ने कहा कि इस परिसर में अनेक नई और आधुनिक सुविधाओं को जोड़ा गया है जिनमें लोगों की आवाजाही के लिए उपयुक्त संकेतकों से युक्‍त नव विकसित मार्ग, महत्‍वपूर्ण स्थानों को रोशन करना, देशी वृक्षारोपण के साथ बेहतर भूदृश्य एवं चट्टानों युक्‍त निर्माण कार्य, इत्‍यादि पूरे बगीचे में ऑडियो नोड्स लगाना शामिल हैं. 

केंद्रीय संस्कृति मंत्री, केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री, संस्कृति राज्य मंत्री, पंजाब के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री, हरियाणा, उत्तराखंड एवं हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री, पंजाब के सभी लोकसभा व राज्यसभा सांसद, जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक न्यास के सदस्यगण, इत्‍यादि इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे.

First Published : 27 Aug 2021, 08:52:08 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.