News Nation Logo

पीएम मोदी आज यूरोपीय परिषद की बैठक में होंगे शामिल, कोरोना काल में आपसी सहयोग पर होगा मंथन

यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के विशेष निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यूरोपीय परिषद की बैठक में शामिल होंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 08 May 2021, 06:56:36 AM
pm narendra modi

कोरोना महामारी के बीच PM मोदी आज यूरोपीय परिषद की बैठक में होंगे शामिल (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • यूरोपीय परिषद की बैठक आज
  • पीएम मोदी होंगे बैठक में शामिल
  • आपसी सहयोग पर होगा मंथन

नई दिल्ली:

यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के विशेष निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यूरोपीय परिषद की बैठक में शामिल होंगे. विदेश मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक की मेजबानी पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा करेंगे. वर्तमान में यूरोपीय संघ के परिषद की अध्यक्षता पुर्तगाल के पास है. प्रधानमंत्री मोदी यूरोपीय संघ के सभी 27 सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों व शासनाध्यक्षों के साथ इस बैठक में भाग लेंगे. यूरोपीय संघ प्लस 27 इस प्रारूप में इससे पहले केवल एक बार इस साल मार्च में अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ मिले हैं.

यह भी पढ़ें : अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से निपटने के लिए बनेंगे ऑक्सीजन रिजर्व

इस बैठक में शामिल होने वाले नेता कोविड-19 महामारी और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में सहयोग, स्थायी और समावेशी विकास को बढ़ावा देने, भारत-यूरोपीय संघ के बीच आर्थिक साझेदारी को मजबूत करने के साथ-साथ आपसी हितों के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों के बारे में विचारों का आदान-प्रदान करेंगे. भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की यह बैठक यूरोपीय संघ के सदस्य देशों के सभी नेताओं के साथ चर्चा करने का एक अभूतपूर्व अवसर है. यह एक महत्वपूर्ण राजनीतिक मील का पत्थर है और जुलाई 2020 में हुए 15वें भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के बाद से आपसी संबंधों में आई तेजी को आगे और मजबूत करेगा.

हालांकि कोरोना के इस संकट काल में भारत को दुनिया भर के मित्र देशों से मदद के तौर पर तमाम चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति हो रही है. यूरोपीय देशों, यूरोपीय संघ (ईयू) के समर्थन के साथ, भारत को दीर्घकालिक और स्थायी चिकित्सा तकनीक प्रदान करने में विशेष रूप से सहायक हैं. बीते दिन ही इटेलियन दूतावास ने दिल्ली के पास ग्रेटर नोएडा में आईटीबीपी अस्पताल में ऑक्सीजन संयंत्र शुरू किया. 48 घंटों में स्थापित किया गया ये प्लांट एक साथ 100 से अधिक कोविड रोगियों को ऑक्सीजन प्रदान कर सकता है.

यह भी पढ़ें : अब कमला हैरिस ने कहा- हम आपके साथ, भारत की मदद को अमेरिका तत्पर

जर्मनी दिल्ली छावनी के सरदार वल्लभभाई पटेल कोविड अस्पताल के लिए ऑक्सीजन पैदा करने वाला संयंत्र भेज रहा है. भारत में जर्मन राजदूत वाल्टर जे लिंडनर ने दिल्ली में मीडियाकर्मियों से कहा कि उनका देश बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन पैदा करने वाला संयंत्र भेज रहा है, जो 12 रक्षाकर्मियों द्वारा अपने रक्षा बलों द्वारा संचालित किया जाएगा. ये पैरामेडिक्स इस संयंत्र के प्रबंधन के उपयोग में भारतीय रक्षा कर्मियों को भी प्रशिक्षित करेंगे. दो वायु सेना के परिवहन विमानों में ए 400 एम लाया जा रहा है. ये संयंत्र प्रति दिन 4,00,000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करेगा. विमानों में से एक गुरुवार शाम को दिल्ली में उतरा जबकि दूसरा कुछ दिन के अंतराल में आएगा.

सहायता भेजने के लिए अन्य यूरोपीय देशों में फिनलैंड, ऑस्ट्रिया और बेल्जियम शामिल हैं. कई यूरोपीय देश यूरोपीय संघ के नागरिक सुरक्षा तंत्र के माध्यम से सहायता प्रदान कर रहे हैं, जो यूरोपीय आयोग के आपातकालीन प्रतिक्रिया समन्वय केंद्र द्वारा समन्वित है. इसके अलावा अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान, फ्रांस, यूएई, ब्रिटेन समेत बहुत से देश इस मुश्किल दौर में भारत की मदद के लिए आगे आ चुके हैं. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 08 May 2021, 06:56:36 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.