News Nation Logo
Banner

NIA के सामने पेश हुए परम बीर सिंह, मुंबई पुलिस कमिश्नर ने गृहमंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट 

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के आवास के बाहर विस्फोटक से लदी एसयूवी के मामले में पहली बार राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के समक्ष पेश हुए.

By : Kuldeep Singh | Updated on: 07 Apr 2021, 12:04:22 PM
Parambir singh

NIA के सामने पेश हुए परम बीर सिंह (Photo Credit: न्यूज नेशन)

मुंबई:

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के आवास के बाहर विस्फोटक से लदी एसयूवी के मामले में पहली बार राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के समक्ष पेश हुए. इस मामले में व्यवसायी मनसुख हीरेन की रहस्यमय तरीके से मौत होने के बाद इस मामले ने नया मोड़ ले लिया था. परमबीर सिंह बुधवार सुबह यहां एनआईए कार्यालय पहुंचे.  वह सीधे आतंकवाद-रोधी जांच एजेंसी के दफ्तर के अंदर पहुंचे. एनआईए के सूत्रों के मुताबिक, सिंह से इस साल 25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर मिली विस्फोटक लदी एसयूवी के संबंध में पूछताछ की जाएगी.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने की कई बातें स्पष्ट

इसके पहले एनआईए निलंबित क्राइम ब्रांच के पुलिस अधिकारी सचिन वजे सहित कई लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. एनआईए इसके पहले वाजे द्वारा उपयोग किए गए कई वाहनों को जब्त कर चुकी है और यहां एक नदी से कई सामान भी बरामद कर चुकी है.

गृहमंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट
मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने सचिन वाझे मामले की जांच रिपोर्ट गृहमंत्रालय को सौंप दी है. इसमें उसके 9 महीने के क्राइम ब्रांच में काम करने की जिक्र किया गया है. रिपोर्ट में कहा गया कि सचिन वाझे को पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के आदेश के बाद ही क्राइम इंटेलीजेंस यूनिट में तैनाती दी गई थी. सचिन वाज़े की पुलिस सेवा में बहाली पिछले साल जून में तत्कालीन पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के कहने पर ही की गई थी, बावजूद इसके कि इस पर ज्वाइंट कमिश्नर (क्राइम) का एतराज था. सचिन वाज़े को CIU की कमान तत्कालीन पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के कहने पर ही दी गई थी. बावजूद इसके कि क्राइम ब्रांच में उनसे भी सीनियर और काबिल अफसर थे.  ज्वाइंट कमिश्नर के एतराज के बाद भी परमबीर सिंह कई बड़े मामलों की जांच सचिन वाज़े को दे देते थे. रिपोर्ट में कहा गया कि सचिन वाज़े क्राइम ब्रांच के आला अधिकारियों को रिपोर्ट ने करके सीधे परमबीर सिंह को रिपोर्ट करते थे. क्राइम ब्रांच के अधिकारियों को वो अनौपचारिक जवाब देते थे. मंत्रियों के सामने ब्रीफिंग के समय भी परमबीर सिंह के साथ वाज़े ही होते थे. बावजूद इसके कि वाज़े के पास ड्यूटी निभाने के लिए सरकारी गाड़ियां होती थी, वाज़े मर्सिडीज और ऑडी जैसी हाई एंड गाड़ियों में दफ्तर आया करते थे.

यह भी पढ़ेंः कोरोना ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, 1.15 लाख से ज्यादा नए केस, 630 मौतें

दूसरी तरफ महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ  सीबीआई जांच के बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार और देशमुख  की याचिकाओं में तकनीकी कमियां पाई गई हैं. इन कमियों को दूर करने के बाद ही मामला सुनवाई के लिए लिस्ट होगा. लिहाजा आज दोनों की ओर से जल्द सुनवाई की मांग को लेकर कोई मेंशनिग भी नहीं हुई. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 07 Apr 2021, 12:04:22 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×