logo-image
लोकसभा चुनाव

Paper Leak Controversy: सरकार का बड़ा एक्शन, NTA के महानिदेशक सुबोध कुमार को हटाया

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के महानिदेश सुबोध कुमार को पद से हटाया गया है. उनके स्थान पर IAS प्रदीप सिंह खरोला NTA के महानिदेशक रहेंगे. 

Updated on: 22 Jun 2024, 10:00 PM

नई दिल्ली:

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के महानिदेशक सुबोध कुमार (Subodh kumar) को पद से हटा दिया गया है. अब उनकी जगह IAS प्रदीप सिंह खरोला लेंगे. वे NTA के महानिदेशक होंगे. हाल के NEET पेपर लीक और UGC-NET की परीक्षाओं के पेपर लीक केस को लेकर NTA पर लगातार सवाल उठ रहे थे. अब सरकार ने इस मामले को लेकर बड़ी कार्रवाई की. बीते कई​ दिनों से पेपर लीक को लेकर विपक्ष लगातार हमलावर ​है. देशभर में छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं. NTA का गठन इस मकसद से किया गया था कि प्रवेश परीक्षाओं को पूरी तरह से दोषमुक्त किया जा सके. मगर NTA मॉडल पर लगातार सवाल उठ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: GST Council Meeting: रेलवे के प्लेटफॉर्म टिकट पर मिली छूट, जीएसटी काउंसिल की बैठक में लिया गया फैसला

आपको बता दें कि 21 जून (शुक्रवार) की रात CSIR-UGC-NET की परीक्षा को भी स्थगित कर दी गई.  ये परीक्षा 25 से 27 जून के बीच होनी थी. परीक्षा को आगे बढ़ाने का कारण संसाधनों की कमी को जिम्मेदार ठहराया गया. मगर इसने NTA को लेकर छात्रों की आशंका को बढ़ाने का काम किया. 

बीते काफी समय से कई राज्यों में पेपर लीक की शिकायते आ रही हैं. उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, बिहार, झारखंड, ओडिशा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना, असम, अरुणाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर...ये देश वे राज्य हैं, जहां बीते 5 साल में 41 भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हुए. इसके बाद से देश भर के छात्र सड़कों पर उतर आए. 

ऐसे अस्तित्व में आया NTA

साल 2017 में मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से उच्च शिक्षा में प्रवेश को लेकर एकल, स्वायत्त और स्वतंत्र एजेंसी का गठन का ऐलान किया गया. प्रवेश परीक्षाओं को दोषमुक्त रखने को लेकर सरकार ने इसका गठन किया. 1 मार्च 2018 को NTA यानी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) अपने अस्तित्व में आ गया था.