News Nation Logo

Exclusive : देश की बहस में बोले अवि दांडिया- दंगाइयों का कोई धर्म नहीं होता है, लेकिन...

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु का पुलकेशीनगर विधानसभा क्षेत्र बुधवार को किसी युद्ध क्षेत्र जैसा दिखाई पड़ा. देश की बहस में एनआरआई अवि दांडिया ने कहा कि दंगाइयों का कोई धर्म नहीं होता है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 14 Aug 2020, 10:48:11 PM
desh ki bahas

देश की बहस (Photo Credit: न्यूज नेशन ब्यूरो )

नई दिल्‍ली:

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु का पुलकेशीनगर विधानसभा क्षेत्र बुधवार को किसी युद्ध क्षेत्र जैसा दिखाई पड़ा. कांग्रेस विधायक के एक रिश्तेदार की ओर से कथित तौर पर सोशल मीडिया पर ‘सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील’ एक पोस्ट लिखे जाने के बाद उग्र भीड़ ने खूब बवाल किया और वाहनों को आग लगा दी. इसे लेकर देश की बहस में एनआरआई अवि दांडिया ने कहा कि दंगाइयों का कोई धर्म नहीं होता है.

यह भी पढ़ेंःPM मोदी 15 अगस्त को लाल किले से देश को करेंगे संबोधित, जानिए पूरा शेड्यूल

एनआरआई अवि दांडिया ने न्यूज नेशन से कहा कि मैं पिछले 6 साल से बोल रहा हूं कि अमेरिका में अपने देश का नाम खराब हो रहा है. आपके युवा के पास काम नहीं है जिसका इस्तेमाल वो ऐसी गतिविधियों के लिए ही करते हैं. चाहे पीएफआई हो चाहे बजरंग दल हो ये सभी राजनीतिक दलों के पाले हुए लोग हैं. उन्होंने आगे कहा कि चाहे कोई धर्म हो, लेकिन देश में किसी भी हाल में दंगे नहीं होने चाहिए. धर्म की आड़ में जो दंगे करता है उसे बिलकुल नहीं छोड़ना चाहिए. दंगे सिर्फ भारत में ही नहीं कई देशों में होते हैं.

अवि दांडिया के सवालों का जवाब देते हुए RAW के पूर्व अफसर आरएसएन सिंह ने कहा कि क्या अमेरिका में दंगे नहीं हुए थे. अभी जो अमेरिका में दंगे हुए थे तब तुम्हारी आंखें बंद थीं, राष्ट्रपति को वहां फोर्स बुलानी पड़ी थी. तुम्हारे अमेरिका में जब दंगे हुए थे तब तुम नहीं बोलने आए. आप हिन्दुस्तान को गाली दोगे, आप कैसे बोला कि यहां पर हल्ला गुल्ला होता है. आप लोग देश की छवि खराब कर रहे हो.

यह भी पढ़ेंः राहुल गांधी बोले- लद्दाख मामले में चीन से डर रही मोदी सरकार, क्योंकि...

आरएसएन सिंह ने आगे कहा कि मुझे इस बात पर कोई हैरानी नहीं हुई है जब पीएफआई ने इंडिपेंडेंस-डे के आसपास ये काम किया है. इनका इतिहास ही ऐसा रहा है कि ये स्वतंत्रता दिवस या फिर गणतंत्र दिवस पर देश में हंगामा करते हैं. ये ग्लोबल जिहाद को छुपाने के लिए अपने नाम को अंग्रेजी में रखते हैं ताकि कोई इन्हें पहचान न सके.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 Aug 2020, 10:48:11 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.