News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

नीतीश कुमार ने जीता विश्वासमत, नाराज़ तेजस्वी ने जमकर निकाली भड़ास

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बहुमत साबित कर दिया है। विश्वासमत के दौरान नीतीश कुमार के पक्ष में 131 वोट जबकि विपक्ष में कुल 108 वोट पड़े।

News Nation Bureau | Edited By : Shivani Bansal | Updated on: 28 Jul 2017, 07:30:43 PM
नीतीश कुमार ने जीता विश्वासमत

नई दिल्ली:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को विधानसभा में विश्वास मत हासिल कर लिया। विश्वास मत के प्रस्ताव के पक्ष में 131 जबकि विरोध में 108 वोट पड़े। विधानसभा की कार्रवाई शुरू होने के पहले ही राजद और कांग्रेस के विधायकों ने जमकर हंगामा किया। इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंत्रिपरिषद के पक्ष में विधानसभा में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया और विश्वास मत के पक्ष और विपक्ष में चर्चा के बाद मतदान शुरू हुआ। 

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने शुरू में ध्वनिनमत से मतदान कराने की कोशिश की लेकिन दोनों ओर से तेज आवाज़ के कारण निर्णय नहीं हो सका। इसके बाद लॉबी डिविजन से मतदान कराया गया, जिसमें विश्वास मत के प्रस्ताव के पक्ष में 131 मत जबकि विरोध में 108 मत पड़े। 

बता दें कि सरकार बनाने के लिए पक्ष में 123 वोटों की दरकार थी। इस बीच दिन भर के घटे घटनाक्रमों में आरजेडी ने विधानसभा के बाहर जमकर हंगामा किया तो विधानसभा के अंदर तेजस्वी यादव ने नीतीश पर जमकर प्रहार किए थे।

हंगामे के बीच आखिरकार नीतीश ने बहुमत हासिल कर लिया। लेकिन इस बीच विधानसभा में आरोप-प्रत्यारोपों का दौर जारी रहा।

विधानसभा के अंदर किसने क्या किया

हे राम से जय श्रीराम तक पहुंच गए नीतीश: तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव के नीतीश पर तीखे वार 

नीतीश पर निशाना साधते हुए जेडीयू आरजेडी की सरकार में उप-मुख्यमंत्री रहे तेजस्वी यादव ने कहा, 'नीतीश कुमार पता नहीं कब हे राम से जय श्रीराम तक पहुंच गए।' उन्‍होंने कहा, ' नीतीश ने बिहार की जनता को धोखा दिया है। उन्होंने जनता से मिले जनादेश का अपमान किया है।'

नीतीश ने दिया हमलों का जवाब

बिहार विधानसभा से लेकर खेल और मनोरंजन तक की दिन की दस बड़ी ख़बरें

विधानसभा में नीतीश कुमार ने तेजस्वी के प्रहारों का जवाब देते हुए कहा, 'सत्ता सेवा के लिए होती है भोग के लिए नहीं।' उन्होंने कहा, 'मैं समय आने पर एक-एक बात का जवाब दूंगा। यह लोग भम्र है,अहंकार में है। हमने गठबंधन धर्म का पालन किया।'

नीतीश ने कहा, 'कांग्रेस को 15- 20 से ज्यादा नही मिलने वाली था 40 तक हमने पहुंचाया। हमने कांग्रेस को कहा कि आप देखिए लेकिन वो नही देखी। जनता सबसे बड़ी कोर्ट है हम उसकी सेवा करेगें एक परिवार का सेवा नही करेगें। सत्ता का मतलब सेवा होता है मलाई खाना नही होता है।'

सुशील ने दिया नीतीश कुमार का साथ

सुशील मोदी ने विधानसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का साथ देते हुए कहा, 'जनादेश 26 साल में 26 बेनामी प्रॉपर्टी के मालिक बनने के लिए नहीं दिया था बिहार की जनता ने।' 

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published : 28 Jul 2017, 01:54:46 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.