News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

नीति आयोग के सदस्य वीके पाल का दावा, कोरोना से लड़ाई में 3 सप्ताह निर्णायक

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने दावा किया है कि आने वाले अगले तीन सप्ताह कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ाई में निर्णायक साबित होंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 20 Apr 2021, 07:07:00 PM
Dr. VK Paul

वीके पॉल, सदस्य नीति आयोग (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • कोरोना पर नीति आयोग के सदस्य वीके पाल का दावा
  • अगले 3 सप्ताह कोरोना से जंग में होंगे निर्णायक
  • स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने बताईं कोरोना से निपटने की तैयारियां

नई दिल्ली:

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने दावा किया है कि आने वाले अगले तीन सप्ताह कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ाई में निर्णायक साबित होंगे. वीके पॉल के अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी मंगलवार को मीडिया से बातचीत में बताया कि कोरोना कि वजह से अब मृत्यु दर कम हो रही है. साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि केंद्र सरकार अब कोरोना पर लगातार सुविधाएं बढ़ा जा रही है. केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि इस कोरोना महामारी को लेकर बने दहशत के माहौल के बीच लोगों को सही जानकारी मिलनी चाहिए और उनको सही सलाह मिलनी जरुरी है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मीडिया से बातचीत में बताया कि देश में कोरोना के चलते प्रतिकूल स्थिति के बीच मृत्यु दर महज 1.18 प्रतिशत ही है.  वहीं आईसीयू में भर्ती लोगों की बात करें तो महज 1.75 प्रतिशत लोग ही आईसीयू में हैं, जबकि 0.40 प्रतिशत वेंटिलेटर के सपोर्ट पर हैं. इसी तरह कोरोना वायरस से संक्रमित 4.03 फीसदी मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने आगे बताया कि बीते 3-4 दिनों में 800 से अधिक नॉन आईसीयू ऑक्सजीन बेड जोड़े गए हैं. जबकि दिल्ली के सरकारी अस्पतालों सफदर जंग और लेडी हॉर्डिंग के अलावा एम्स में भी बेडो की संख्या बढ़ाई गई है. डीआरडीओ और सीएसआईआर ने इस काम को आगे बढ़ाया है.

यह भी पढ़ेंःपीएम नरेंद्र मोदी ने कोविड पॉजिटिव राहुल गांधी के स्वस्थ होने की कामना की

पीएम मोदी की निगरानी में हो रहा है काम
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने आगे बताया कि देश में मौजूदा समय 12 हजार से ज्यादा क्वारंटीन सेंटर पूरी तरह से काम कर रहे हैं. इसके अलावा देश में कोरोना के मरीजों के लिए अस्थायी अस्पताल बनाए जा रहे हैं. उन्होंने आगे बताया कि ये सब काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की निगरानी में हो रहा है वो बराबर इन सुविधाओं पर अपडेट लेते रहते हैं. केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री लगातार बैठकें कर रहे हैं. टीकाकरण कार्यक्रम तेजी से चल रहा है और अभी तक 12.71 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया गया है. 

यह भी पढ़ेंःकोरोना संक्रमण से मुक्ति के लिए उज्जैन में देवी को चढ़ाई गई शराब!

कोरोना वायरस संक्रमण से टली यूजीसी की परीक्षाएं
देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से शिक्षा व्यवस्था भी बुरी तरह से चरमरा गई है. पहले सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं पर कोरोना की गाज गिरी अब यूजीसी नेट कोरोना वायरस संक्रमण का शिकार बना है. अब विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (UGC NET) भी कोरोना संक्रमण की वजह से स्थगित कर दी गई है. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 को इस संबंध में एक नोटिस जारी किया है. वहीं केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर इस बारे में बताया है कि UGC NET की परीक्षाएं रद्द कर दीं गई हैं.

First Published : 20 Apr 2021, 06:53:40 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो