News Nation Logo

BREAKING

Banner

भारी बारिश और तेज हवाओं के बीच महाराष्‍ट्र और गुजरात के तट से टकराया निसर्ग तूफान

निसर्ग चक्रवात महाराष्ट्र के तटीय इलाकों के अलावा गुजरात के द्वारका तट से टकरा गया है. मुंबई में यह अलीबाग के तट से टकराया है. मौसम विभाग का कहना है कि निसर्ग के तट से टकराने के समय इसकी स्‍पीड करीब 120 किलोमीटर प्रति घंटे थी.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 03 Jun 2020, 03:20:17 PM
NIsarga

बारिश और तेज हवाओं के बीच आया निसर्ग चक्रवात (Photo Credit: न्‍यूजस्‍टेट)

नई दिल्ली:

निसर्ग चक्रवात (Nisarga Cyclone) महाराष्ट्र के तटीय इलाकों के अलावा गुजरात के द्वारका तट से टकरा गया है. मुंबई में यह अलीबाग के तट से टकराया है. मौसम विभाग का कहना है कि निसर्ग के तट से टकराने के समय इसकी स्‍पीड करीब 120 किलोमीटर प्रति घंटे थी. गुजरात के तटीय इलाके, मुंबई के ज्यादातर इलाकों के अलावा कर्नाटक में भी बारिश हो रही है. मुंबई और गुजरात के अधिकांश इलाकों में रेड अलर्ट जारी किया गया है. कुछ जगहों पर तो धारा 144 भी लागू है.

मंबई के अलीबाग में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. मौसम विभाग के अनुसार, लैंडफॉल को पूरा होने में करीब 3 घंटे लगेंगे. कई जगह पेड़ टूटकर सड़क पर गिर गए हैं. आंधी और तेज बारिश के बीच लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत दी जा रही है और तटीय इलाकों में किसी भी हालत में न जाने की सलाह दी गई है. दोनों राज्‍यों में एनडीआरएफ की 20 टीमें लगाई गई हैं.

यह भी पढ़ें : कर्फ्यू का उल्लंघन कर अमेरिका के कई बड़े शहरों में लोगों ने किए विरोध प्रदर्शन

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि निसर्ग तूफान को देखते हुए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के 10 दलों को राज्य के तटवर्ती क्षेत्रों में तैनात किया गया है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया कि मुंबई के अतिरिक्त ठाणे, पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुगिरि जिले में चेतावनी जारी की गई है. दूसरी ओर, मुंबई के मौसम विज्ञान विभाग के उप महानिदेशक केएस होसलिकर ने का कहना है कि चक्रवाती तूफान के दौरान हवा की गति 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी.

दोपहर एक बजे के बाद मुंबई के अलीबाग में तूफान निसर्ग का लैंडफॉल शुरू हुआ. सुबह से ही मुंबई में तेज बारिश और हवाएं चल रही हैं. गेटवे ऑफ इंडिया के पास तेज हवाओं से पुलिस की बैरिकेडिंग गिर गई हैं. समुद्री तटों से मछुआरों को हटाया गया है. जल्‍दबाजी में कई मछुआरे अपने नाव और अन्य सामान किनारे पर ही छोड़ गए हैं.

यह भी पढ़ें : हर साल लौटने वाली सीजनल बीमारी बन सकती है कोरोना, सर्दियों में और बढ़ेगा खतरा - रिसर्च

मौसम विभाग का कहना है कि मुंबई, ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी में तेज हवाएं और तेज बारिश हो सकती है. सिर्फ महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि गुजरात, दमन और दीव के कई क्षेत्रों में भी इस तूफान का असर दिख रहा है. यहां तेज हवाएं और बारिश शुरू हो गई है. हर जगह पर पुलिस और NDRF की टीमें तैनात हैं.

First Published : 03 Jun 2020, 02:14:12 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×