News Nation Logo

120 की तूफानी रफ्तार से आ रहा निसर्ग चक्रवात (Nisarga Cyclone), 4 बजे तक अलीबाग के दक्षिण में टकराएगा

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 03 Jun 2020, 11:46:32 AM
Nisarga

120 की तूफानी रफ्तार से आ रहा निसर्ग चक्रवात, 4 बजे तक टकराएगा (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्ली:  

आज मुंबई में निसर्ग तूफान (NIsarga Cyclone) 100-120 की तूफानी स्पीड से दस्तक देने वाला है. उससे पहले ही लगातार बारिश हो रही है. समंदर में तूफान के समय 6 फीट ऊंची लहरें उठ सकती हैं. पूरे रायगढ़, मुंबई, ठाणे, पालघर में भारी से भारी वर्षा की संभावना है. आज दोपहर 1-4 बजे के बीच ये अलीबाग के दक्षिण में टकराएगा. मौसम विभाग के मुताबिक, यह तूफान आज सुबह यहां से 215 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम तथा रायगढ़ से करीब 165 किमी दक्षिण- दक्षिणपूर्व में अरब सागर के ऊपर फैला हुआ था.

यह भी पढ़ें : नवाजुद्दीन सिद्दीकी की भतीजी ने चाचा पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- मेरे साथ किया गंदा काम

इस तूफान से पालघर और रायगढ़ स्थित केमिकल और परमाणु संयत्र पर भी खतरा उत्पन्न हो गया है. इनकी सुरक्षा के लिए सावधानियां बरती जा रही हैं. पालघर में देश का सबसे पुराना तारापुर एटॉमिक पॉवर प्लांट है. गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों से 40 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. महाराष्ट्र में लोगों को तटीय इलाकों में जाने से रोका गया है.

क्या है तैयारियां
मुंबई समेत पूरा महाराष्ट्र निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है. राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ ने पूरे महाराष्ट्र में 20 टीमों को तैनात किया है. मुंबई में 8 टीमें, रायगढ़ में 5 टीमें. पालघर में 2 टीमें, ठाण में 2 टीमें, रत्नागिरी में 2 टीमें और सिंधुदुर्ग में एक टीम की तैनाती की गई है. मुंबई में तूफान से निपटने और जान माल के नुकसान को रोकने के लिए पक्के इंतजाम किए गए हैं. इसके अलावा मुंबई में धारा 144 लगाई गई है. लोगों से सैर-सपाटे के लिए समुद्री तटों पर नहीं जाने को कहा गया है. पार्कों में जाने पर रोक है.

यह भी पढ़ें : 15 जून से बिहार में बंद होंगे क्वारंटीन सेंटर, पृथक-वास में रखने के लिए पंजीकरण पर लगी रोक

लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है. एनडीआरएफ, दमकल और सेना को अलर्ट पर रखा गया है. तटीय इलाकों से करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर ले जाया गया है. सिंधुदुर्ग और रायगढ़ जिलों में भी हाई अलर्ट घोषित किया गया है. मौसम विभाग के मुताबिक. दमन, दीव और दादर नागर हवेली में तूफान का असर सबसे ज्यादा रहेगा.

पीएम नरेंद्र मोदी रख रहे हैं नजर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘निसर्ग’ चक्रवात के खतरे को लेकर मंगलवार रात को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से बात कर उन्हें पूरी मदद का भरोसा दिया. प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि मोदी ने दमन, दीव, दादरा और नागर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के पटेल से भी बात की.

First Published : 03 Jun 2020, 11:37:44 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.