News Nation Logo

गैंगस्टरों पर NIA की बड़ी कार्रवाई: पूरे भारत में 60 स्थानों पर मारे छापे

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 12 Sep 2022, 10:48:34 AM
NIA Rade

NIA Rade (Photo Credit: File)

highlights

  • एनआईए भारत में 60 जगहों पर छापेमारी कर रही है
  • दिल्ली, एनसीआर, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पंजाब में छापेमारी की जा रही है.
  • NIA विदेशों से और भारत में सलाखों के पीछे सक्रिय गिरोहों पर नकेल कसना चाहती है

दिल्ली:  

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सोमवार को गिरोह और अपराध सिंडिकेट पर नकेल कसने के लिए पूरे भारत में 60 स्थानों पर छापे मारे. 60 स्थानों में दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पंजाब के स्थान शामिल हैं. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा लॉरेंस बिश्नोई गैंग, बंबिहा गैंग और नीरज बवाना गैंग के 10 गैंगस्टरों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत दो प्राथमिकी दर्ज करने के बाद एनआईए जांच कर रही है. इससे एक दिन पहले पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने कहा था कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में गिरफ्तार किए गए आतंकी समूहों और गैंगस्टरों के बीच मजबूत सांठगांठ है. उन्होंने कहा था कि आईएसआई इस सांठगांठ का फायदा उठा रही है.

ये भी पढ़ें : आप के अहमदाबाद दफ्तर पर गुजरात पुलिस की रेड, केजरीवाल ने साधा निशाना

एनआईए की रिपोर्ट के मुताबिक, नीरज सहरावत उर्फ ​​नीरज बवाना और उसका गिरोह मशहूर हस्तियों की लक्षित हत्याओं और सोशल मीडिया पर आतंक फैलाने में शामिल है. सूत्रों के अनुसार, नीरज बवाना और उसका गिरोह भी इस समय लॉरेंस बिश्नोई के साथ गैंगवार में शामिल है. पंजाबी गायक-राजनेता सिद्धू मूसेवाला की हत्या के कुछ घंटों बाद नीरज बवाना ने घोषणा की थी कि वे गायक की मौत का बदला लेंगे और लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के खिलाफ कार्रवाई करेंगे. 

एनआईए की छापेमारी भारत और विदेशों में जेलों के अंदर से संचालित होने वाले गिरोहों पर नकेल कसने के लिए की जा रही है. इनमें गोल्डी बरार जैसे गैंगस्टर शामिल हैं, जिन्होंने कनाडा से सिद्धू मूसेवाला की हत्या का कोर्डिनेट किया था. प्राथमिकी के अनुसार, स्पेशल सेल को सूचना मिली कि लॉरेंस बिश्नोई, गोल्डी बराड़, विक्रम बराड़, जग्गू भगवानपुरिया, संदीप, सचिन थापन और अनमोल बिश्नोई कनाडा, पाकिस्तान और दुबई की देश और विदेश की विभिन्न जेलों से गिरोह चला रहे हैं. प्राथमिकी में यह भी कहा गया है कि लॉरेंस बिश्नोई खालिस्तानी आतंकवादी हरविंदर सिंह रिंडा का करीबी है, जिसके बारे में माना जाता है कि वह पाकिस्तान में रहता है. UAPA के तहत एक और प्राथमिकी दर्ज की गई जिसमें लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के प्रतिद्वंद्वी बंबिहा गिरोह के सदस्य थे. इनमें आर्मेनिया से संचालित लकी पटियाल, हरियाणा जेल में बंद कौशल चौधरी और तिहाड़ जेल में बंद नीरज बवाना शामिल है.

First Published : 12 Sep 2022, 10:37:46 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.