News Nation Logo

देश में कोरोना के 5000 नए मामले आए सामने, सरकार ने कहा- मृत्यु दर काफी कम

देश में मंगलवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के लगभग पांच हजार मामले सामने आए जिनमें से अधिकतर लोग वे हैं जो विदेश या दूसरे राज्यों से लौटे हैं.

Bhasha | Updated on: 19 May 2020, 11:26:37 PM
corona virus

देश में कोरोना के 5000 नए मामले आए सामने (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:

देश में मंगलवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के लगभग पांच हजार मामले सामने आए जिनमें से अधिकतर लोग वे हैं जो विदेश या दूसरे राज्यों से लौटे हैं. वहीं, अधिकारियों ने कहा कि भारत में इस विषाणु के चलते मृत्यु दर अन्य देशों के मुकाबले काफी कम है, जबकि संक्रमण के मामलों को एक लाख तक पहुंचने में काफी अधिक समय लगा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों में बताया कि देश में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मौत के मामले 3,163 पर पहुंच गए और संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 1,01,139 हो गयी.

इसमें पिछले 24 घंटों में संक्रमण के करीब पांच हजार नए मामलों और मौत के 134 मामलों की वृद्धि हुई. हालांकि, विभिन्न राज्यों के आंकड़ों के आधार पर पीटीआई द्वारा संकलित तालिका के अनुसार आज शाम पौने सात बजे तक संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या 1,01,688 है. अब तक 39 हजार से अधिक रोगी ठीक हुए हैं और 59 हजार से अधिक लोगों का अभी उपचार चल रहा है.

भारत में प्रति लाख आबादी पर कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 7.1 है

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि भारत में प्रति लाख आबादी पर कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 7.1 है, जबकि वैश्विक आंकड़ा प्रति एक लाख की आबादी पर 60 मामलों का है. उसने विश्व स्वास्थ्य संगठन के हवाले से कहा कि सोमवार तक विश्व में कोरोना वायरस के 45,25,497 सामने आए हैं यानी संक्रमण की दर प्रति एक लाख आबादी पर 60 लोगों की है.

इसे भी पढ़ें:Lockdown 4.0: राजधानी की सड़कों पर 70 फीसदी ट्रैफिक बढ़ा, सभी रेड लाइट शुरू : स्पेशल सीपी ट्रैफिक

दुनिया का आंकड़ा 4.1 मृत्यु प्रति लाख का है

मंत्रालय ने कहा कि भारत में अब तक प्रति एक लाख आबादी पर कोविड-19 से मौत के करीब 0.2 मामले आए हैं जबकि दुनिया का आंकड़ा 4.1 मृत्यु प्रति लाख का है. अधिकारियों ने यह भी कहा कि भारत में संक्रमण के मामले 64 दिन में 100 से एक लाख तक पहुंचे हैं, जो अमेरिका और स्पेन जैसे देशों की तुलना में दुगुने से अधिक समय है. स्वास्थ्य मंत्रालय और वर्ल्डोमीटर्स के आंकड़ों के अनुसार अमेरिका में कोरोना वायरस के मामलों को 100 से एक लाख तक पहुंचने में 25 दिन लगे, जबकि स्पेन को 30 दिन, जर्मनी को 35 दिन, इटली को 36 दिन, फ्रांस को 39 दिन और ब्रिटेन को 100 से एक लाख तक पहुंचने में 42 दिन लगे.

अब तक कुल 24,25,742 नमूनों की जांच की जा चुकी है

मंत्रालय ने कहा कि सोमवार को देश में कोविड-19 के लिए रिकॉर्ड 1,08,233 नमूनों की जांच की गयी. अब तक कुल 24,25,742 नमूनों की जांच की जा चुकी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के हवाले से मंत्रालय ने कहा कि दुनियाभर में मंगलवार तक कोविड-19 से मौत के 3,11,847 मामले आए हैं जो करीब 4.1 मृत्यु प्रति लाख आबादी हैं.

 अमेरिका में 87,180 लोगों की मौत हो चुकी है

मंत्रालय ने कहा कि जिन देशों में कोरोना वायरस संक्रमण से बड़ी संख्या में लोग मारे गए हैं, उनमें अमेरिका में 87,180 लोगों की मौत हो चुकी है यानी प्रति एक लाख आबादी पर यह दर 26.6 की है. ब्रिटेन में 34,636 लोगों की मौत हो चुकी है और इस लिहाज से संक्रमण से मृत्यु की दर करीब 52.1 लोग प्रति एक लाख है. इटली में 31,908 लोगों की मौत के साथ यह दर करीब 52.8 मृत्यु प्रति लाख जनसंख्या, फ्रांस में मृत्यु के कुल 28,059 मामलों के साथ 41.9 मौत प्रति लाख, वहीं स्पेन में संक्रमण से 27,650 लोगों की मौत के साथ यह दर करीब 59.2 प्रति लाख है. जर्मनी, ईरान, कनाडा, नीदरलैंड और मेक्सिको में यह दर क्रमश: लगभग 9.6, 8.5, 15.4, 33.0 और 4.0 मौत प्रति लाख आबादी है.

चीन में कोविड-19 के कारण अब तक 4,645 लोगों की मौत हुई है और वहां मौत की दर करीब 0.3 मृत्यु प्रति लाख आबादी है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ‘अपेक्षाकृत मृत्यु के कम आंकड़े दर्शाते हैं कि भारत में समय पर मामलों की पहचान कर उनका चिकित्सीय प्रबंधन किया गया.’

और पढ़ें:पीयूष गोयल का बड़ा ऐलान, 1 जून से 200 ट्रेनें चलेंगी...जल्द शुरू होगी ऑनलाइन बुकिंग

 385 सरकारी और 158 निजी लैब में जांच हो रही हैं

जांच के मामले में मंत्रालय ने कहा कि जनवरी में जहां केवल एक प्रयोगशाला में कोविड-19 की जांच हो रही थी, वहीं आज 385 सरकारी और 158 निजी लैब में जांच हो रही हैं. उसने कहा, ‘केंद्र सरकार की सभी प्रयोगशालाओं, सरकारी मेडिकल कॉलेजों, निजी मेडिकल कॉलेजों और निजी क्षेत्र की यथोचित साझेदारी के साथ देश में जांच क्षमता का विस्तार किया गया है.’

इसके अलावा जांच बढ़ाने के लिए ट्रूनेट और सीबीएनएएटी जैसी अन्य मशीनों को भी लगाया गया है. वर्ल्डोमीटर्स के अनुसार भारत कोरोना वायरस की जांच की कुल संख्या के मामले में अमेरिका, रूस, जर्मनी, इटली, स्पेन और ब्रिटेन के बाद दुनिया में सातवें नंबर पर है, वहीं, प्रति दस लाख लोगों पर परीक्षण के मामले में यह बहुत पीछे 139वें स्थान पर है.

केरल में मंगलवार को कोरोना वायरस के 12 मामले सामने आए

केरल में मंगलवार को कोरोना वायरस के 12 मामले सामने आए. ये सभी लोग विदेश या अन्य राज्यों से लौटे हैं. इस तरह राज्य में कोविड-19 के मरीजों की संख्या 142 हो गई है. अधिकारियों ने बताया कि मणिपुर में दिल्ली से लौटी एक महिला और उसकी बेटी कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गईं.

और पढ़ें:कोरोना महामारी के बाद असली मुश्किल होगी शुरू! WEF ने पेश की चिंताजनक तस्वीर

यूपी में कुल 4748 मामले अबतक आए सामने 

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के 142 नए मामले सामने आए हैं जिससे इस राज्य में कुल मरीजों की संख्या 4,748 हो गई है. दिल्ली में रिकॉर्ड 500 नए मामले सामने आए जिससे कोरोना संक्रमित लोगों की कुल संख्या 10,554 और मृतकों की संख्या 166 तक पहुंच गई है. देश में सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में कोविड-19 के 2,100 नए मामले सामने आए जिससे राज्य में महामारी के कुल मामलों की संख्या 37,158 हो गई है.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 19 May 2020, 11:16:12 PM