News Nation Logo

चीनी युद्धपोतों पर पैनी नजर के लिए नेवी खरीदेगी ये 10 स्पेशल ड्रोन

हिंद महासागर में दुश्मन के युद्धपोतों और उनकी गतिविधियों (China activities in Indian Ocean) पर बारीकी से नजर रखने के लिए नेवी जल्द से जल्द 10 ड्रोन (Ship-borne drones for surveillance) चाह रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 14 Aug 2020, 11:16:30 PM
indiannavy

इंडियन नेवी (Indian Navy) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

हिंद महासागर में दुश्मन के युद्धपोतों और उनकी गतिविधियों (China activities in Indian Ocean) पर बारीकी से नजर रखने के लिए नेवी (Indian Navy) जल्द से जल्द 10 ड्रोन (Ship-borne drones for surveillance) चाह रही है. इसके लिए इंडियन नेवी ने रक्षा मंत्रालय को एक प्रस्ताव भेजा है. सरकार से जुड़े सूत्रों ने एएनआई को बताया कि इंडियन नेवी ने रक्षा मंत्रालय (Indian Navy proposal to Defence Ministry for drones) को फास्ट ट्रैक मोड में एक प्रस्ताव भेजा है, जिसके मुताबिक 1,240 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से 10 नवल शिपबोर्न अनमैन्ड एरियल सिस्टम खरीदने की बात कही गई है.

यह भी पढे़ंः राजनाथ सिंह बोले- अगर किसी ने यह दुस्साहस किया तो अंजाम भुगतने पड़ेंगे

नेवी के प्लान के मुताबिक, इन ड्रोनों को उसके बड़े आकार वाले युद्धपोतों पर तैनात किया जाएगा. इससे भारतीय जल क्षेत्र के आसपास चीन समेत दूसरे देशों की गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखी जा सकेगी. प्लान के मुताबिक, नेवी इन ड्रोनों को एक ओपन विड के जरिए हासिल करना चाहती है. इनसे निगरानी की क्षमता में इजाफा होगा.

यह भी पढे़ंः राहुल गांधी बोले- लद्दाख मामले में चीन से डर रही मोदी सरकार, क्योंकि...

इसके अलावा नेवी अमेरिका से सी गार्जियन ड्रोन्स खरीदने के प्रोजेक्ट पर भी काम कर रही है. इससे वह मेडागास्कर से लेकर मलक्का स्ट्रेट और भारतीय हितों व रणनीतिक रूप से अहम बाकी समुद्री हिस्सों पर अपने निगरानी तंत्र का विस्तार कर सकेगी. इसके साथ-साथ नेवी के मौजूदा ड्रोनों को अपग्रेड करने पर भी काम चल रहा है. रक्षा मंत्रालय ने हाल ही में अपग्रेड प्रोग्राम पर चर्चा शुरू की है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 Aug 2020, 11:09:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.