News Nation Logo

Nasik Hospital Fire: PM मोदी और अमित शाह ने हादसे पर जताया शोक, की जांच की मांग

नासिक के जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक रिसाव की वजह से एक गंभार हादसा हो गया. ऑक्सीजन के रिसाव की वजह से अस्पताल में आग लग गई. इस हादसे में अब तक 22 मरीजों की मौत हो गई है. जिसके बाद हड़कंप मच गया.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 21 Apr 2021, 04:36:28 PM
amit shah with pm modi

अमित शाह और पीएम मोदी (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • नासिक हादसे पर पीएम मोदी और शाह ने जताया शोक
  • हादसे पर पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवींस ने की जांच की मांग
  • नासिक अस्पताल में आग लगने से 22 मरीजों की मौत

नई दिल्ली:

नासिक के जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक रिसाव की वजह से एक गंभार हादसा हो गया. ऑक्सीजन के रिसाव की वजह से अस्पताल में आग लग गई. इस हादसे में अब तक 22 मरीजों की मौत हो गई है. जिसके बाद हड़कंप मच गया. जिस वक्त ये घटना हुई, तब अस्पताल में 171 मरीज थे. हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया है. पीएम मोदी ने हादसे पर शोक प्रकट करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा है, हादसा दिल दहला देने वाला है. हादसे में होने वाले जानमाल के नुकसान से मन खिन्न हो गया है इस दुख की घड़ी में शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना मैं अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं.

वहीं इस हादसे पर गृहमंत्री अमित शाह ने भी दुख व्यक्त किया है. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हादसे पर शोक जताते हुए कहा कि इस हादसे पर जान और माल का बड़ा नुकसान हुआ है. अमित शाह ने मृतकों के परिजनों को सांत्वना देते हुए ट्विटर पर लिखा है, दुर्घटना की खबर सुनकर मैं बहुत ही व्यथित हो गया हूं. मैं इस घटना में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं.

यह भी पढ़ेंःदिल्लीः सभी प्राइवेट स्कूलों में ऑनलाइन और सेमी ऑनलाइन क्लासेस पर रोक

वहीं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवींस ने नासिक अस्पताल में हुए हादसे पर शोक प्रकट करते हुए अपनी भावनाएं शोकाकुल परिवारों के प्रति प्रकट की हैं. देवेंद्र फडणवींस ने शोकाकुल परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करते हुए कहा कि, नासिक में जो हुआ वह भयानक है. कहा जा रहा है कि 11 लोगों की मौत हो गई जो बहुत जो कि बहुत ही कष्टदाई है. मेरी सरकार से मांग है कि जरूरत पड़ने पर अन्य मरीजों की मदद की जाए और उन्हें स्थानांतरित किया जाए. हम यह हादसा किन वजहों से हुआ इस बात का पता लगाने के लिए विस्तृत जांच की मांग करते हैं.

यह भी पढ़ेंःदिल्ली में कोरोना कि स्थिति और ऑक्सीजन की कमी को लेकर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कही ये बातें

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस दौरान अस्पताल में 25 मरीजों का इलाज वेंटिलेटर पर जारी था. कई मरीजों का हालत गंभीर बनी हुई है. इसके अलावा 60 से ज्यादा मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही थी. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा 'नासिक में टैंकर के वाल्व लीकेज के चलते बड़े स्तर पर ऑक्सीजन का रिसाव हुआ है.' उन्होंने कहा 'जिस अस्पताल पर यह जा रही थी, वहां इसका निश्चित असर हुआ होगा, लेकिन मुझे अभी और जानकारी जुटाना बाकी है. हम और जानकारी जुटाने के बाद प्रेस नोट जारी करेंगे.'

एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें 12.30 बजे कॉल आया था कि ऑक्सीजन टैंक से लीक हो रहा है. हम मौके पर पहुंचे और पाया कि ऑक्सीजन टैंक का वॉल्व खुला हुआ था, जहां से ऑक्सीजन लीक हो रहा था. एक टैंकर से ऑक्सीजन टैंक में ऑक्सीजन भरा जा रहा था.' उन्होंने जानकारी दी 'जो वॉल्व खुला था, उसे हमने बंद कर दिया है, लेकिन काफी ऑक्सीजन लीक हो चुका है.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 21 Apr 2021, 04:18:29 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.