News Nation Logo
Banner

Exclusive : भूमि पूजन के बाद अब मुनव्वर राणा ने पूर्व CJI रंजन गोगोई पर साधा निशाना, कहा बिका...

अयोध्या विवाद पर भले ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद भूमिपूजन हो गया है. लेकिन अभी भी लोग राम मंदिर पर अपने अपने विवादित बयानों से पीछे नहीं हट रहे हैं. मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने भूमि पूजन के मौके पर पीएम मोदी के अयोध्या जाने पर निशाना साधा है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 10 Aug 2020, 09:36:10 PM
munawwar rana

मुनव्वर राणा। (Photo Credit: NN)

नई दिल्ली:

अयोध्या विवाद पर भले ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद भूमिपूजन हो गया है. लेकिन अभी भी लोग राम मंदिर पर अपने अपने विवादित बयानों से पीछे नहीं हट रहे हैं. मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने भूमि पूजन के मौके पर पीएम मोदी के अयोध्या जाने पर निशाना साधा है. लेकिन राणा ने पीएम मोदी समेत पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई और सीएम योगी के लिए आपत्तिजनक शब्द कह डाले.

नयूज नेशन के साथ खास बातचीत में राणा ने कहा कि पीएम मोदी को अयोध्या नहीं जाना चाहिए था. कुछ लोगों ने पटाखे जलाए. ये सिर्फ एक समुदाय को नीचा दिखाने के लिए किया गया. पूर्व चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई पर निशाना साधते हुए राणा ने कहा कि फैसला चाहे जो आया था रंजन गोगोई को राज्यसभा नहीं जाना चाहिए था.

यह भी पढ़ें- पायलट कैंप के विधायक भंवरलाल शर्मा ने की CM अशोक गहलोत से मुलाकात

ऐसा करने से ये पता चला रहा है कि वह एक राज्यसभा सीट पर बिक गए. वहीं राणा ने सीएम योगी की तुलना हिटलर और मुसोलिनी से कर डाली. इन बयानों पर मुनव्वर राणा ने देश की बहस कार्यक्रम में अपने बयानों को फिर दोहराया.

उन्होंने कहा कि कोर्ट ने जो फैसला किया हम उसे मानते हैं. पहली बात तो आस्था का फैसला अदालत नहीं कर सकती लेकिन जब अदालत ने फैसला दिया तो उसे हमने माना. वहीं रंजन गोगोई ने फैसला सुनाने के बाद राज्यसभा की सीट ले ली जो कि शर्मनाक बात है.

यह भी पढ़ें- जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल ने बडगाम में भाजपा नेता की हत्या की निंदा की

मुनव्वर राणा ने कहा कि भगवान राम ने एक वचन के आधार पर अपनी गद्दी छोड़ दी वहीं रंजन गोगोई ने गद्दी के लिए अपने पद का सम्मान नहीं रखा.

राणा ने आगे कहा कि इस फैसले से इनकार नहीं किया जा सकता है. लेकिन उसके बाद जो हुआ वो शक के दायरे में है. यह पूछे जाने पर कि क्या वह अपने बयानों पर माफी चाहते हैं पर राणा ने कहा कि माफी तब मांगी जाती है जब कोई गलती की जाती है. बिना गलती के माफी मांगना मतलब यह समझना कि हम भी बिक गए, थक गए और हार गए.

First Published : 10 Aug 2020, 09:30:21 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो