News Nation Logo
Banner

मोहन भागवत बोले- कोई हिंदू भारत विरोधी नहीं हो सकता, उसे देशभक्त होना ही पड़ेगा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा कि कोई हिंदू है तो उसे देशभक्त होना ही पड़ेगा, यह उसके मूल में है.

IANS | Updated on: 02 Jan 2021, 09:55:58 AM
Mohan Bhagwat

मोहन भागवत (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा कि कोई हिंदू है तो उसे देशभक्त होना ही पड़ेगा, यह उसके मूल में है. संघ प्रमुख ने कहा कि कोई हिंदू, भारत द्रोही या भारत विरोधी नहीं हो सकता. दिल्ली में वर्ष 2021 के पहले दिन यहां राजघाट पर आयोजित एक समारोह में जेके बजाज और एमडी श्रीनिवास द्वारा लिखित पुस्तक को महात्मा गांधी पर बेहद प्रमाणिक शोध बताते हुए मोहन भागवत ने कहा कि इसके लोकार्पण को लेकर बहुत अटकलें लग सकतीं हैं. लेकिन उसकी आवश्यकता नहीं है.

यह भी पढ़ें: लाल डायरी में लिख रहे सभी का नाम, वक्त आने पर होगा हिसाब-घोष

मोहन भागवत ने कहा कि देश भक्ति की प्रवृत्ति हर व्यक्ति में होती है. भारत में व्यक्ति, इस भूमि को अपना मानता है. जमीन की पूजा, माटी की पूजा सब लोग किसी न किसी रूप में करते हैं. परंतु गांधी जी ने कहा- मेरी देशभक्ति मेरे धर्म से निकलती है. मोहन भागवत ने कहा, हिंदू है तो देशभक्त होना ही पड़ेगा उसको. सोई हुई देशभक्ति को जगाना पड़ता है. कोई हिंदू भारत विरोधी नहीं है.

यह भी पढ़ें: PM Modi आज रखेंगे IIM संबलपुर के स्थाई कैंपस की आधारशिला, 5000 लोग होंगे शामिल 

सरसंघचालक ने कहा कि महात्मा गांधी कहते थे कि स्वराज की मांग करने वाले बहुत लोग है. स्वराज क्या है जब तक आप स्वधर्म को नहीं समझते तब तक आप स्वधर्म नहीं समझते. भागवत ने सभी के विचारों के सम्मान पर जोर देते हुए कहा, असमहित का मतलब अलगाववाद नहीं है. हमें मिलजुलकर रहना है. हम एक धरती, माता के पुत्र बनकर रह सकते हैं.

First Published : 02 Jan 2021, 09:55:58 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.