News Nation Logo

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, वाणिज्यिक अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों का निलंबन 31 जनवरी तक बढ़ाया

जानकारी के मुताबिक सरकार ने विशेष उड़ानों और अंतर्राष्ट्रीय एयर कार्गो संचालन पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा. यूरोपीय देश और भारत के बीच विमानों की आवाजाही 23 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक स्थगित रहेगी.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 30 Dec 2020, 03:37:43 PM
Flight

Flight (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने अनुसूचित वाणिज्यिक अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों का निलंबन 31 जनवरी 2021 तक बढ़ा दिया है. जानकारी के मुताबिक सरकार ने विशेष उड़ानों और अंतर्राष्ट्रीय एयर कार्गो संचालन पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा.

वहीं दूसरी ओर नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि भारत और ब्रिटेन के बीच विमान सेवाएं सात जनवरी तक स्थगित रहेंगी और इसके बाद कड़े नियमों के तहत इनका संचालन किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें: देश को आज मिल सकती है कोरोना की वैक्सीन, कोविशील्ड को मंजूरी पर बैठक जारी

यूरोपीय देश और भारत के बीच विमानों की आवाजाही 23 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक स्थगित रहेगी
नागर विमानन मंत्रालय ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि वायरस के ज्यादा संक्रामक नए स्वरूप (स्ट्रेन) के सामने आने की वजह से यूरोपीय देश और भारत के बीच विमानों की आवाजाही 23 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक स्थगित रहेगी. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के भारत-ब्रिटेन के बीच विमान सेवाएं सात जनवरी तक स्थगित करने का सुझाव देने के बाद पुरी ने यह घोषणा की. पुरी ने ट्वीट किया कि ब्रिटेन से विमानों की आवाजाही को सात जनवरी 2021 तक स्थगित करने का फैसला किया गया है. उन्होंने कहा कि इसके बाद कड़े विनियमित तरीके से इसका संचालन शुरू किया जाएगा, जिसकी घोषणा जल्द की जाएगी.

यह भी पढ़ें: श्रीनगर एनकाउंटर में 3 आतंकी ढेर, इलाके में सुरक्षाबलों का ऑपरेशन जारी

 इससे पहले, केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने विमानन सचिव प्रदीन सिंह खारोला को एक सरकारी परिपत्र में कहा था कि वह स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक (डीजीएचएस) की अध्यक्षता वाले संयुक्त निगरानी समूह (जेमएजी) और आईसीएमआर के डीजी तथा नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) की अध्यक्षता वाले राष्ट्रीय कार्य बल द्वारा मिली जानकारी के आधार पर भारत और ब्रिटेन के बीच विमानों की आवाजाही सात जनवरी तक बंद करने का सुझाव देते हैं. भूषण ने यह भी सुझाव दिया था कि सात जनवरी 2021 के बाद सीमित संख्या में विनियमित तरीके से विमानों का संचालन बहाल किया जा सकता है और ऐसे तंत्र की बारीकियों पर स्वास्थ्य मंत्रालय के परामर्श से नागरिक विमानन मंत्रालय काम कर सकता है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि ब्रिटेन से भारत लौटे कुल 20 लोग सार्स-सीओवी-2 के नए प्रकार (स्ट्रेन) से संक्रमित पाए गए हैं.

यह भी पढ़ें: राजनाथ बोले- चीन विवाद का बातचीत से नहीं निकला नतीजा, विस्तारवाद की नीति का देंगे जवाब

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को घोषणा की थी कि वे सभी अंतरराष्ट्रीय यात्री ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ का हिस्सा होंगे, जो नौ से 22 दिसम्बर के बीच भारत पहुंचे और कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं ताकि पता लगाया जा सके कि कहीं ये लोग विषाणु के उस नए प्रकार से तो संक्रमित नहीं हैं जो हाल में ब्रिटेन में पाया गया है। ब्रिटेन में सामने आए कोरोना वायरस के नए ‘स्ट्रेन’ के मामले अब तक डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में सामने आ चुके हैं. (इनपुट भाषा)

First Published : 30 Dec 2020, 03:29:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.