News Nation Logo
Banner

हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम... सिद्धू पर मनीष तिवारी का तंज

पंजाब कांग्रेस में भीतरी राजनीति पर कांग्रेस का जी-23 समूह भी मुखर.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 28 Aug 2021, 01:39:34 PM
Manish Tewari

सिद्धू के बयान पर मनीष तिवारी ने कसा तंज. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • नवजोत सिंह सिद्धू के ईंट से ईंट बजाने पर कांग्रेस में भी उबाल
  • मनीष तिवारी ने नवजोत सिंह का वीडियो जारी कर कसा तंज
  • हरीश रावत भी खत्म नहीं करा पा रहे हैं पंजाब की रार

नई दिल्ली:

कांग्रेस में जी-23 (G-23) समूह के प्रमुख नेता मनीष तिवारी (Manish Tewari) पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर पार्टी की चुप्पी से नाराज हैं, जिन्होंने पार्टी के खिलाफ धमकी भरी भाषा का इस्तेमाल किया है. तिवारी के करीबी सूत्रों ने बताया कि पिछले साल अगस्त में जब नेताओं के समूह ने पार्टी की बेहतरी के लिए पत्र लिखा तो उन्हें देशद्रोही कहा गया, लेकिन अब (Navjot Singh Sidhu) सिद्धू के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. तिवारी ने शनिवार को सिद्धू का वीडियो ट्वीट किया, जो कह रहे हैं कि अगर अनुमति नहीं दी गई तो वह ईंट से ईंट बजा देंगे. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने एक शेर का इस्तेमाल किया, 'हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम. वो कत्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती.'

जी-23 समूह के मुखर नेता है मनीष तिवारी
पिछले साल 23 अगस्त को तिवारी समेत नेताओं ने सोनिया गांधी को एक 'प्रभावी नेतृत्व और सीडब्ल्यूसी स्तर के लिए वें ब्लॉक के लिए चुनाव जो अभी भी लंबित थे के लिए एक पत्र लिखा था. सिद्धू ने शुक्रवार को अमृतसर शहर में एक पार्टी समारोह में बोलते हुए कहा, 'अगर उन्हें अपनी आशा और विश्वास की नीति के अनुसार काम करने की अनुमति दी जाती है, तो वह राज्य में 20 साल तक कांग्रेस का शासन सुनिश्चित करेंगे.' सिद्धू ने कहा, 'लेकिन अगर आप मुझे निर्णय लेने की अनुमति नहीं देते हैं, तो मैं कुछ भी मदद नहीं कर सकता.'

यह भी पढ़ेंः बदलती दुनिया को देखते हुए सुरक्षा घेरा मजबूत करने की जरूरतः राजनाथ सिंह

सिद्धू और अमरिंदर की रार नहीं हो रही खत्म
पंजाब मॉडल के बारे में बोलते हुए, सिद्धू ने कहा, 'पंजाब मॉडल का मतलब है कि लोग व्यापार, उद्योग और बिजली के लिए नीतियां बनाते हैं. लोगों की शक्ति लोगों को वापस देना है.' इस बयान से जाहिर है कि सिद्धू और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच सत्ता संघर्ष जारी है. इस बीच अमरिंदर सिंह के विश्वासपात्र और कैबिनेट मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने भी गुरुवार को उनके आवास पर रात्रिभोज का आयोजन किया. रात्रिभोज में कुल 58 विधायक और आठ सांसद शामिल हुए और उन्होंने विश्वास जताया कि पार्टी अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में 2022 का चुनाव जीतेगी. सिद्धू की धमकी के बाद पंजाब के प्रभारी महासचिव हरीश रावत ने शुक्रवार को सोनिया गांधी और शनिवार को राहुल गांधी से मुलाकात कर उन्हें समस्याओं से अवगत कराया है.

First Published : 28 Aug 2021, 01:38:22 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.