News Nation Logo
Banner

भारत के सामने झुका पाकिस्तान, कुलभूषण जाधव को दिया दूसरा कांसुलर एक्सेस

भारत के दबाव के आगे एक बार फिर पाकिस्तान को झुकना पड़ा. कुलभूषण जाधव मामले को लेकर भारत के लिए अच्छी खबर है. पाकिस्तान मीडिया के अनुसार, पाक जेल में बंद भारत के रिटायर्ड नेवी अफसर कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने दूसरा कांसुलर एक्सेस दे दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 16 Jul 2020, 04:21:46 PM
kulbhushan

कुलभूषण जाधव (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

भारत के दबाव के आगे एक बार फिर पाकिस्तान को झुकना पड़ा. कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) मामले को लेकर भारत के लिए अच्छी खबर है. पाकिस्तान मीडिया के अनुसार, पाक जेल में बंद भारत के रिटायर्ड नेवी अफसर कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने दूसरा कांसुलर एक्सेस दे दिया है. आपको बता दें कि पिछले दिनों भारत ने कुलभूषण जाधव को लेकर एक बार फिर पाकिस्तान से बात की है और बिना किसी रोक के काउंसुलर एक्सेस देने की बात कही थी. 

यह भी पढे़ंः कांग्रेस के बागी नेता सचिन पायलट समेत 19 विधायकों की याचिका पर HC में टली सुनवाई

कुलभूषण जाधव मामले को लेकर भारतीय अधिकारी पाकिस्तान विदेश मंत्रालय पहुंच गए हैं. अधिकारियों को जाधव से मिलने के लिए दो घंटे का वक्त मिला है. इस दौरान भारत के दो अधिकारी कुलभूषण जाधव से मुलाकात करेंगे. भारत ने पाकिस्तान से कहा था कि बिना किसी बाधा के कुलभूषण जाधव को काउंसुलर एक्सेस दिया जाए. इससे पहले पाकिस्तान ने दावा किया था कि उसने समीक्षा याचिका दायर करने से इनकार कर दिया था. भारत ने कहा था कि उसे ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया था.

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस (Congress) सरकार से आग्रह किया था कि उसे पाकिस्तान (Pakistan) पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ाना चाहिए और अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत में जाना चाहिए ताकि पाकिस्तान में कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) को उनकी मौत की सजा के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करने का अवसर मिले. पार्टी प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा था कि पाकिस्तान से कोई उम्मीद नहीं की जा सकती है.

यह भी पढे़ंः BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के बड़े भाई स्नेहाशीष पाए गए कोरोना पोजिटिव, दादा हुए होम क्वारंटीन

उन्होंने कहा था कि हमें भारत सरकार पर विश्वास रखना होगा. उसे बहुत तेजी से कुलभूषण जाधव को कानूनी अधिकार दिलाने चाहिए. सिंघवी ने कहा था कि भारत सरकार को धरती-आसमान एक कर देना चाहिए. उन्हें आईसीजे में आवेदन करना चाहिए. मामला समाप्त नहीं हुआ है. उन्हें वैश्विक स्तर पर प्रतिकूल राय बनानी चाहिए कि किसी व्यक्ति को उसके इन अधिकारों का इस्तेमाल करने की अनुमति क्यों नहीं दी जा रही जो अपना बचाव नहीं कर पा रहा.

First Published : 16 Jul 2020, 04:02:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो