News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

मोदी कैबिनेट में मिल सकता है जदयू को मौका, नीतीश ने दिल्ली दौरे को बताया निजी

एनडीए ( NDA ) का प्रमुख सहयोगी दल होने के बावजूद केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में जदयू ( JDU ) की भागीदारी नहीं हैं. माना जा रहा है कि संभावित कैबिनेट विस्तार में जदयू के दो नेताओं को मौका मिल सकता है.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 22 Jun 2021, 10:45:42 PM
Nitish Kumar

मोदी कैबिनेट में मिल सकता है JDU को मौका, नीतीश ने किया दिल्ली का दौरा (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में जदयू की भागीदारी नहीं हैं
  • संभावित कैबिनेट विस्तार में जदयू के दो नेताओं को मौका मिल सकता है
  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दो दिनों तक दिल्ली में रहने का प्लान है

नई दिल्ली:

एनडीए ( NDA ) का प्रमुख सहयोगी दल होने के बावजूद केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में जदयू ( JDU ) की भागीदारी नहीं हैं. माना जा रहा है कि संभावित कैबिनेट विस्तार में जदयू के दो नेताओं को मौका मिल सकता है. इस बीच मंगलवार से दो दिवसीय दौरे पर नीतीश कुमार के दिल्ली पहंचने पर सियासी सरगर्मी बढ़ गई. हालांकि नीतीश कुमार ने दिल्ली स्थित अपने आवास पर मीडिया से बातचीत के दौरान दौरे को निजी बताते हुए कहा कि वह सिर्फ आंख का इलाज कराने आए हैं.

यह भी पढ़ें : दिल्ली कोरोना अपडेटः 24 घंटे में 8 मरीजों की मौत, कुल आंकड़ा 24933 पहुंचा

जदयू के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, "मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दो दिनों तक दिल्ली में रहने का प्लान है. प्रधानमंत्री, गृहमंत्री या भाजपा अध्यक्ष आदि बड़े नेताओं से मिलने का उनका कोई कार्यक्रम अभी तय नहीं है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आंख के इलाज के लिए दिल्ली पहुंचे हैं."

यह भी पढ़ें : अदालत ने पूर्व पीएम देवगौड़ा को एनआईसीई को 2 करोड़ रुपये का हर्जाना देने का निर्देश दिया

जनता दल-युनाइटेड (जेडीयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने बीते सोमवार को दो टूक शब्दों में स्पष्ट कर दिया है कि उनकी पार्टी केंद्र सरकार में भागीदारी चाहती है. उन्होंने कहा कि जब भी केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार होगा, जेडीयू उसमें शामिल होगा. जदयू से केंद्रीय मंत्री बनने की रेस में खुद पार्टी अध्यक्ष आरसीपी सिंह, सांसद ललन सिंह का नाम चल रहा है.

यह भी पढ़ें : डेल्टा+ को सरकार ने घोषित किया 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न', देश में मिले 22 मरीज

बता दें कि मई 2019 में एनडीए की दोबारा सरकार बनने पर भाजपा ने जदयू से सिर्फ एक केंद्रीय मंत्री बनाने का प्रस्ताव दिया था, जिसे पार्टी ने ठुकरा दिया था. नीतीश कुमार की पार्टी का कहना था कि बिहार में जदयू सांसदों की संख्या को देखते हुए कम से कम दो केंद्रीय मंत्री का पद मिलना चाहिए.

First Published : 22 Jun 2021, 10:45:42 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.