News Nation Logo
Banner

55 फीसदी घरेलू उड़ान शुरू करने के बाद अंतर्राष्ट्रीय उड़ान शुरू करेंगे, हरदीप सिंह पुरी का बड़ा बयान

हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने कहा है कि अभी डोमेस्टिक फ्लाइट 33 फीसदी उड़ान भर रही हैं और एक हफ्ते में इसमें इजाफा होगा. एक हफ्ते में घरेलू उड़ान में 55 फीसदी तक बढ़ोतरी हो जाएगी.

Written By : आमिर हुसैन | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 04 Jun 2020, 02:35:20 PM
hardeepsinghpuri

हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

नागरिक उड्डयन मंत्री (Civil Aviation Minister) हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने कहा है कि 55 फीसदी घरेलू उड़ान (Domestic Flights) शुरू करने के बाद अंतर्राष्ट्रीय उड़ान (International Flights) शुरू करेंगे. हरदीप सिंह पुरी ने न्यूज नेशन में एक्सक्लूसिव बातचीत में यह बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अभी डोमेस्टिक फ्लाइट 33 फीसदी उड़ान भर रही हैं और एक हफ्ते में इसमें इजाफा होगा. एक हफ्ते में घरेलू उड़ान में 55 फीसदी तक बढ़ोतरी हो जाएगी.

यह भी पढ़ें: Covid-19: कोरोना वायरस महामारी के बीच इस कंपनी ने कारोबार में सफलता के झंडे गाड़े

सरकार विदेशों से लौटने वाले नागरिकों के कौशल की जानकारी जुटाएगी

सरकार ने बुधवार को कहा कि कोराना वायरस महामारी के कारण ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत विदेशों से लाये जा रहे भारतीय नागरिकों के कौशल के बारे में जानकारी जुटाने के वास्ते एक नई पहल ‘स्वदेश’ शुरू की है. स्वदेश पहल से तात्पर्य रोजगार समर्थन के लिये विदेशों से आये कुशल कामगारों की जानकारी जुटाने से है. इससे महामारी के कारण विदेशों से आने वाले कामगारों के कौशल का बेहतर उपयोग करना है. एक सरकारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि भारत सरकार ने एक नई पहल स्‍वदेश (स्किल्ड वर्कर्स अराइवल डेटाबेस फॉर एम्प्लॉयमेंट सपोर्ट) शुरू की है। यह कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय और विदेश मंत्रालय की संयुक्त पहल है. इस तरह से जुटाई गई जानकारी को देश में नियोजन के उपयुक्त अवसरों के लिए कंपनियों के साथ साझा किया जाएगा. लौटने वाले नागरिकों को एक ऑनलाइन स्‍वदेस कौशल कार्ड भरना आवश्यक है.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से निपटने को लेकर हम पश्‍चिमी देशों की ओर देखते रहे: राहुल बजाज

कार्ड राज्य सरकारों, उद्योग संघों और नियोक्ताओं सहित प्रमुख हितधारकों के साथ विचार-विमर्श के जरिये रोजगार के उपयुक्त अवसरों के साथ लौटने वाले नागरिकों को प्रदान करने के लिए एक रणनीतिक ढांचा प्रदान करेगा. केंद्रीय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री डा. महेन्‍द्र नाथ पांडे ने कहा, "ये परीक्षा की घड़ी है और यह महत्वपूर्ण है कि पूरा देश एक साथ आए और कोविड-19 महामारी के कारण अर्थव्‍यवस्‍था में आई गिरावट से उत्‍पन्‍न चुनौतियों से निपटने के लिए केन्‍द्र के प्रयासों में सहयोग करे। हमें खुशी है कि वंदे भारत मिशन के अंतर्गत विदेशों से लौटने वाले नागरिकों का कौशल मानचित्रण कराने के लिए हमने नागर विमानन मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के साथ साझेदारी की है.

यह भी पढ़ें: मोरेटोरियम पीरियड (Moratorium Period) में ब्याज माफी की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा

केन्‍द्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इस मामले में कहा, “जब हमने वंदे भारत मिशन की शुरुआत की, तो हमने देखा कि हमारे बहुत से विदेशी कर्मचारी नौकरी के नुकसान के कारण भारत लौट रहे हैं, उनके पास अंतरराष्ट्रीय कौशल और अनुभव हैं जिसकी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजारों के लिए बहुत उपयोगिता है. हम इन श्रमिकों के डेटाबेस को इकट्ठा करने के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल बनाने के लिए एमएसडीई तक पहुंचे. विदेश मंत्री डॉ. सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने टिप्पणी की, “नोवल कोरोना वायरस के अभूतपूर्व प्रसार के कारण वैश्विक आपातकाल के मद्देनजर, हम विदेश में फंसे अपने नागरिकों और नौकरियां खोने के कारण उत्‍पन्‍न चुनौतियों के लिए हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम विभिन्न देशों में अपने दूतावासों/उच्चायोगों/वाणिज्य दूतावासों के माध्यम से स्वदेस कौशल कार्ड पहल को सक्रिय रूप से बढ़ावा देंगे। इस पहल से वापस लौटने वाले कार्य बल की उनके कौशल से मेल खाती हुई तैनाती में मदद मिलेगी. (इनपुट भाषा)

First Published : 04 Jun 2020, 02:25:13 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो