News Nation Logo

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन और नेपाल ऑयल कॉर्पोरेशन ने दो समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए

PM मोदी ने कहा, देउबा जी भारत के पुराने मित्र हैं. प्रधानमंत्री के रूप में, यह उनकी भारत की 5वीं यात्रा है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 02 Apr 2022, 05:07:02 PM
pm modi

PM नरेंद्र मोदी और पीएम देउबा (Photo Credit: TWITTER HANDLE)

नई दिल्ली:  

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा दो दिवसीय दौरे पर भारत में है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता में दोनों देशों के बीच कई अहम मुद्दों पर बातचीत हुई. विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने बताया कि शानिवार को पीएम मोदी और नेपाल के बीच बैठक में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन और नेपाल ऑयल कॉर्पोरेशन ने दो समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए हैं- एक 5 साल की अवधि के लिए पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति के नवीनीकरण के लिए और दूसरा तकनीकी विशेषज्ञता साझा करने के लिए. 

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने नेपाली समकक्ष के साथ संयुक्त रूप से इस हिमालयी देश में भारतीय पेमेंट सर्विस सिस्टम RuPay लॉन्च किया और जयनगर (भारत) से कुर्था (नेपाल) के बीच क्रॉस बॉर्डर पैसेंजर ट्रेन सर्विस को भी हरी झंडी दिखाई. प्रधानमंत्री मोदी ने जॉइंट स्टेटमेंट में कहा कि नेपाल की शांति, समृद्धि और विकास की यात्रा में भारत एक दृढ़ साथी रहा है और हमेशा रहेगा. यह दोनों देशों के बीच वित्तीय संबंधों को बढ़ाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है. इससे द्विपक्षीय पर्यटन प्रवाह को सुगम बनाने, लोगों से लोगों के बीच जुड़ाव को मजबूत करने की उम्मीद है. 

यह भी पढ़ें: इमरान खान से इतर बाजवा बोले- पाक से US के शानदार रिश्ते, रूस को दी ये नसीहत

PM मोदी ने कहा, देउबा जी भारत के पुराने मित्र हैं. प्रधानमंत्री के रूप में, यह उनकी भारत की 5वीं यात्रा है. उन्होंने भारत-नेपाल संबंधों को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. भारत और नेपाल के बीच दोस्ती, हमारे लोगों के बीच संबंध- ऐसा उदाहरण दुनिया में कहीं और नहीं देखा जा सकता. मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि नेपाल से बिजली आयात करने के कई और प्रस्तावों को मंजूरी दी जा रही है.

दोनों देशों के सदियों पुराने हैं रिश्ते

आपको बता दें कि भारत और नेपाल के संबंध सदियों पुराने हैं. पिछले दिनों नेपाल में जब प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की सरकार थी तब उनकी नजदीकियां चीन से बढ़ने लगी. इस दौरान दोनों देशों के बीच सीमा विवाद से लेकर भगवान राम के खिलाफ बयानबाजी ने कई बार रिश्तों को तल्ख कर दिया. हालांकि, केपी शर्मा ओली के हटने के बाद जबसे शेर बहादुर देउबा के हाथ में नेपाल की कमान आई है, तब से रोटी-बेटी का संबंध निभाने वाले भारत और नेपाल के रिश्ते पहले जैसे होते दिख रहे हैं.

सीमा मुद्दों पर हुई चर्चा

यात्रा के दौरान शेर बहादुर देउबा ने अपने स्टेटमेंट में कहा कि भारत के साथ नेपाल के संबंध बेहद महत्वपूर्ण हैं. पीएम मोदी और मैंने दोनों देशों के बीच सीमा विवाद मुद्दे पर चर्चा की. मैंने पीएम मोदी से द्विपक्षीय तंत्र की स्थापना के माध्यम से इसे हल करने का आग्रह किया. भारत और नेपाल ने अपने संबंधों को विस्तार देने और नई ऊंचाइयों पर पहुंचान के लिए रेलवे, ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में 4 समझौतों को अंतिम रूप दिया.

First Published : 02 Apr 2022, 05:04:49 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.