News Nation Logo
Banner

भारत को इजरायल से मिलेगा ये सबसे खतरनाक हथियार, टेंशन में पाकिस्‍तान

इजरायल ने इस एयरो शो में अपने सबसे खतरनाक हथियार स्‍पाइस 250 ER को प्रदर्शन के लिए रखा है. स्‍पाइस को इजरायली कंपनी राफेल बनाती है और इस नए स्‍पाइस बम की रेंज को बढ़ाकर 150 किलोमीटर तक किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 05 Feb 2021, 12:20:30 PM
ER 250

भारत को इजरायल से मिलेगा 250 ER हथियार (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

भारत और इजरायल से बीच दोस्ती के मिसाल कई बार सामने आ चुकी है. इजरायल समय समय पर भारत को सैन्य मदद कर चुका है. इसी कड़ी में अब इजरायल भारत को एक ऐसा हथियार देने जा रहा है तो भारत के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है. इजरायल हर बार की तरह इस बार भी बेंगलुरु में चल रहे एयरो इंडिया में हिस्‍सा ले रहा है. उसने भारत के सामने एक आधुनिक हथियार देने की पेशकश की है. भारत को अगर यह हथियार मिलता है तो यह भारत के लिए रणनीतिक तौर पर काफी अहम साबित हो सकता है. 

यह भी पढ़ेंः Kisan andolan: क्या है टूलकिट? जिस पर कसा सुरक्षा एजेंसियों ने शिकंजा

इजरायल ने इस एयरो शो में अपने सबसे खतरनाक हथियार स्‍पाइस 250 ER को प्रदर्शन के लिए रखा है. स्‍पाइस को इजरायली कंपनी राफेल बनाती है और इस नए स्‍पाइस बम की रेंज को बढ़ाकर 150 किलोमीटर तक किया गया है. राफेल एडवांस्‍ड डिफेंस सिस्‍टम्‍स स्‍पाइस बम के नए वर्जन को एयरो इंडिया शो के दौरान ही सबके सामने लेकर आया है. उसकी योजना इसे वायुसेना को ऑफर करने की है. नया स्‍पाइस बम अतिरिक्‍त इंटीग्रेटेड टर्बोजेट इंजन के साथ आया है. यह नया सिस्‍टम स्‍पाइस बमों की श्रेणी स्‍पाइस 250, स्‍पाइस 1000 और स्‍पाइस 2000 गाइडेंस किट्स में सबसे छोटा बम है.

यह भी पढ़ेंः जानिए भारत के खिलाफ नफरत फैलाने वाली वेबसाइट्स पर क्या कंटेंट है मौजूद

एयर स्ट्राइक में किया था इस्तेमाल
जानकारी के मुताबिक भारतीय वायुसेना ने साल 2019 में बालाकोट एयर स्‍ट्राइक के दौरान इसी बम का प्रयोग किया था. इजरायल के राफेल एडवांस्‍ड डिफेंस सिस्‍टम्‍स की तरफ से 23 दिसंबर को एक ट्वीट किया गया था. इस ट्वीट में राफेल ने जानकारी दी थी कि उसे एक एशियाई देश के साथ कॉन्‍ट्रैक्‍ट साइन किया है. स्‍पाइस बम संरक्षित एयरस्‍पेस में भी टारगेट को हिट कर सकते हैं. चीन के पास अलग-अलग प्रकार के एयर डिफेंस सिस्‍टम हैं और इनमें रूस का एस-300 और एस-400 भी शामिल है. इसके अलावा देश में ही तैयार एक एयर डिफेंस सिस्‍टम को भी चीन की सेनाओं ने शामिल किया है.

First Published : 05 Feb 2021, 10:21:09 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.