News Nation Logo

भारत-वियतनाम के रक्षा मंत्रियों ने वर्चुअल बैठक की, चीन को जवाब देने के साथ इन मुद्दों पर हुई चर्चा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और वियतनाम के रक्षा मंत्री जनरल जुआन लिच (General Ngo Xuan Lich) के बीच शुक्रवार को वर्चुअल मीटिंग हुई. इस दौरान दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने और द्विपक्षीय आदान-प्रदान बढ़ाने पर चर्चा हुई.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 27 Nov 2020, 07:10:35 PM
raj nath singh Ngo Xuan

भारत-वियतनाम के बीच वर्चुअल मीटिंग, इन मुद्दों पर हुई चर्चा (Photo Credit: @rajnathsingh)

नई दिल्ली :

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और वियतनाम के रक्षा मंत्री जनरल जुआन लिच (General Ngo Xuan Lich) के बीच शुक्रवार को वर्चुअल मीटिंग हुई. इस दौरान दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने और द्विपक्षीय आदान-प्रदान बढ़ाने पर चर्चा हुई. वार्ता के दौरान दोनों मंत्रियों के बीच भारत-वियतनाम रक्षा सहयोग को मजबूत करने पर सहमति बनी. रक्षा सहयोग दोनों के देशों के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी का एक प्रमुख हिस्सा है. दोनों देशों के बीच रक्षा कार्यों में हो रही प्रगति और भविष्य को लेकर चर्चा की गई. 

राजनाथ सिंह और जनरल जुआन लिच के बीच इस बात का संतोष व्यक्त किया कि कोरोना स्थिति के बावजूद दोनों सशस्त्र बलों के बीच रक्षा आदान-प्रदान ने सकारात्मक गति बनाए रखी. दोनों मंत्रियों ने रक्षा उद्योग की क्षमता निर्माण, प्रशिक्षण और संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों में सहयोग पर चर्चा की.

इसे भी पढ़ें:इतिहास में पहली मंदी पर लगी सरकार की मुहर, दूसरी तिमाही में -7.5 फीसदी की ग्रोथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने COVID-19 महामारी की स्थिति के बावजूद आसियान की अध्यक्षता में आसियान में रक्षा संबंधी घटनाओं के वियतनाम के अभिनव और सफल नेतृत्व की सराहना की. वर्चुअल वार्ता के दौरान दोनों देशों के बीच  हाइड्रोग्राफिक ऑफिस के बीच हाइड्रोग्राफी के क्षेत्र में सहयोग के लिए एक कार्यान्वयन व्यवस्था पर हस्ताक्षर किए.इस योजना में हाइड्रोग्राफिक डेटा को साझा करने में सक्षम होगी और दोनों पक्षों द्वारा नेविगेशनल चार्ट के उत्पादन में सहायता करेगी.

इसके अलावा रक्षा औद्योगिक सहयोग दोनों देशों के बीच चर्चा का एक नया केंद्र रहा है. भारत ने पहले से ही वियतनाम की घरेलू रक्षा विनिर्माण को मजबूत करने के लिए 600 मिलियन अमेरिकी डॉलर की रक्षा प्रणालियों का विस्तार किया है. भारत और वियतनाम दोनों पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर दक्षिण चीन सागर में चीन की आक्रामता के खिलाफ काम कर रहे हैं. चीनी जहाजों को देश के आर्थिक क्षेत्र में घुसने स रोका जा रहा है. चीन को दोनों देश मिलकर जवाब दे रहे हैं.

और पढ़ें:TMC को लगा दोहरा झटका, MLA मिहिर गोस्वामी ने दिया इस्तीफा, बीजेपी का थामेंगे दामन

इसके साथ ही वियतनामी रक्षा मंत्री ने विशेष रूप से मानव संसाधन विकास के क्षेत्र में वियतनामी रक्षा बलों की क्षमता निर्माण में भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा सहायता के लिए भारत रक्षा मंत्री को धन्यवाद दिया.  जनरल जुआन लिच ने भारतीय रक्षा संस्थानों में वियतनाम रक्षा बलों की तीनों सेवाओं के लिए प्रशिक्षण के दायरे और स्तर को बढ़ाने के लिए भारत की इच्छा को व्यक्त किया.

First Published : 27 Nov 2020, 07:10:35 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.