News Nation Logo
Banner

दुनिया में सबसे ताकतवर सेना चीन की, भारत चौथे स्थान पर

अगर कोई लड़ाई होती है तो समुद्री लड़ाई में चीन जीतेगा, वायु क्षेत्र में लड़ाई में अमेरिका (America) और जमीनी लड़ाई में रूस (Russia) जीतेगा.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 22 Mar 2021, 10:40:21 AM
India Pakistan

सशक्त सेना के बल पर भारत ने दी थी चीन को लद्दाख शिकस्त. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • अमेरिका दुनिया में सबसे ज्यादा खर्च करता है सेना पर
  • चीन समुद्री लड़ाई में पड़ेगा सभी पर भारी
  • भारत भी दमदार सेना के भरोसे भारी पड़ेगा दुश्मनों पर

नई दिल्ली:

चीन (China) के पास दुनिया की सबसे शक्तिशाली सेना है, लेकिन भारत (India) भी इस मामले में किसी के कम नहीं है. भारत की सेना दुनिया की चौथी सबसे ताकतवर सेना है औऱ इसी दम पर भारत ने लद्दाख से चीन को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया था. रक्षा मामलों की वेबसाइट मिलिट्री डायरेक्ट पर जारी अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक 100 अंकों के सूचकांक में 82 अंकों के साथ चीन की सेना दुनिया की सबसे मजबूत सेना है. अध्ययन में कहा गया है कि अगर कोई लड़ाई होती है तो समुद्री लड़ाई में चीन जीतेगा, वायु क्षेत्र में लड़ाई में अमेरिका (America) और जमीनी लड़ाई में रूस जीतेगा.

अमेरिका दूसरे पायदान पर
रिपोर्ट में कहा गया है कि अपनी सेना पर भारी भरकम पैसा खर्च करने वाला अमेरिका 74 अंकों के साथ दूसरे पायदान पर है. अमेरिका के बाद 69 अंकों के साथ रूस तीसरे और 61 अंकों के साथ भारत चौथे स्थान पर है, जबकि 58 अंकों के साथ फ्रांस पांचवें और 43 अंकों के साथ ब्रिटेन इस सूची में नौवें स्थान पर है. अध्ययन में कहा गया है कि बजट, सक्रिय एवं असक्रिय सैन्य कर्मियों की संख्या, वायु, समुद्री, जमीनी तथा परमाणु संसाधन, औसत वेतन और उपकरणों की संख्या समेत विभिन्न तथ्यों पर विचार करने के बाद ‘सेना की ताकत सूचकांक’ तैयार किया गया.

यह भी पढ़ेंः  PM मोदी आज जल शक्ति अभियान की करेंगे शुरूआत, कई जिलों को मिलेगी सूखे से राहत 

अमेरिका सेना पर करता है सबसे ज्यादा खर्च
अध्ययन के अनुसार, 'बजट, सैनिकों और वायु एवं नौसैन्य क्षमता जैसी चीजों पर आधारित इन अंकों से पता चलता है कि किसी काल्पनिक संघर्ष में विजेता के तौर पर चीन शीर्ष पर आएगा.' बेवसाइट में कहा गया है कि अमेरिका दुनिया में सेना पर सबसे अधिक 732 अरब डॉलर खर्च करता है. इसके बाद चीन दूसरे नंबर पर है और वह 261 अरब डॉलर तथा भारत 71 अरब डॉलर खर्च करता है. अध्ययन में कहा गया है कि अगर कोई लड़ाई होती है तो समुद्री लड़ाई में चीन जीतेगा, वायु क्षेत्र में लड़ाई में अमेरिका और जमीनी लड़ाई में रूस जीतेगा.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली-NCR का बदला मौसम, बूंदाबांदी के साथ कुछ जगहों पर गिरे ओले  

तुलनात्मक अध्ययन
अमेरिका के पास सबसे अधिक 14,141 हवाई जहाज है, रूस के पास 4,682 और चीन के पास 3,587 हवाई जहाज है. ​​संयुक्त राज्य अमेरिका के मुकाबले रूस के पास 54,866 सैन्य वाहन हैं, जबकि अमेरिका के पास 50,326 और चीन के पास 41,641 वाहन हैं. वहीं, समुद्री युद्ध में चीन के पास बढ़त है. चीन के पास 406 पानी के जहाज, रूस के पास 278, संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के पास 202 पानी के जहाज हैं.

First Published : 22 Mar 2021, 10:33:12 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.