News Nation Logo

भारत को मिला आईएनएस विक्रांत तो पाकिस्तान भी ले आया है ये युद्धपोत, जानिए कौन ताकतवर

Written By : अपूर्व श्रीवास्तव | Edited By : Apoorv Srivastava | Updated on: 03 Sep 2022, 09:21:20 AM
INS Vikrant

INS Vikrant (Photo Credit: social Media)

नई दिल्ली :  

INS Vikrant and Paksitan PNS Taimur : भारत की नौसेना के पास आईएनएस विक्रांत आ गया है. यह भारत का पहला स्वदेश निर्मित एयर क्राफ्ट कैरियर है. इस तरह अब भारत को पास दो एयरक्राफ्ट करियर हो गए हैं. पहला आईएनएस विक्रमादित्य और दूसरा आईएनएस विक्रांत. बड़ी मजेदार बात ये है कि पाकिस्तान के पास कोई भी एयरक्राफ्ट करियर नहीं है. हालांकि ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान के पास युद्धपोत नहीं है लेकिन वह  चीन से युद्धपोत खरीद रहा है. पाकिस्तान ने हाल ही में चीन से टाइट-054 फ्रिग्रेट लेकर अपनी नौसेना में शामिल किया है. इसका नाम पीएनएस तैमूर दिया गया है. इससे पहले साल 2021 में भी पाकिस्तान ने चीन से एक युद्धपोत खरीदा था, जिसका नाम पीएनएस तुरगल दिया गया था. अब सवाल ये है कि आखिर चीन से लगातार युद्धपोत खरीद रहे पाकिस्तान की नौसेना भारत के लिए कितना बड़ा खतरा हो सकती है. तो चलिए आपको डिटेल बताते हैं. 

इसे भी पढ़ें: अदालत ने चार दिनों में 1,293 के भ्रामक मामलों का निपटारा कियाः सीजेआई यूयू ललित 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सबसे पहले तो भारत के पास दो एयरक्राफ्ट कैरियर युद्धपोत हैं, जबकि पाकिस्तान के पास एक भी नहीं हैं. टोटल नौसैनिक युद्धपोत की बात करें तो चीन से कुछ युद्धपोत खरीदने के बाद भी पाकिस्तान के पास कुल 104 युद्धपोत हैं, जबकि भारत के पास कुल मिलाकर 286 युद्धपोत हैं. डीजल से चलने वाली 16 पनडुब्बियां भारत के पास हैं, जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 9 हैं. परमाणु ऊर्जा से चलने वाली एक पनडुब्बी भारत के पास है, जबकि पाकिस्तान के पास एक भी नहीं है. भारत के पास कुल 13 फ्रिगेट्स हैं, जबकि पाकिस्तान के पास कुल 8 हैं. इसके बाद गश्ती पोतों की संख्या सुनकर तो आप चौंक जाएंगे. भारत के पास 139 गश्ती पोत हैं, जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 49 हैं.  कार्वेट्स तो भारत के पास 23 जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 2 हैं. पोर्ट और टर्मिनल भारत के पास 13 और पाकिस्तान के पास 2 हैं. यहां ये भी बता दें कि यह आंकड़े लगभग में हैं. क्योंकि दोनों देश लगातार सैन्य उपकरण खरीदने के लिए डील कर रहे हैं और रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार सही संख्या भी कोई देश घोषित नहीं करता, ऐसे में हथियारों की संख्या में थोड़ा हेरफेर हो सकता है. 

इससे ही साफ झलकता है की चीन से जंगी पोत खरीदकर भी पाकिस्तान अभी भारत से बहुत पीछे है और पाकिस्तान की नौसेना, भारत के आगे कहीं ठहरती नहीं. हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स ये भी बता रही हैं कि जब नौसेना के ये आंकड़े सामने आए उसके बाद से एक साल गुजर गया है और पाकिस्तान चीन से युद्धपोत के अलावा पनडुब्बियां भी खरीद रहा है और तुर्की से भी कॉर्वेट्स खरीदने की डील उसने पिछले साल की थी. लेकिन इतनी डील के बाद भी अभी पाकिस्तान भारत से काफी पीछे दिखाई देता है.  

First Published : 03 Sep 2022, 09:19:56 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.