News Nation Logo

आंध्र प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी ने 14 को लीला, हफ्ते भीतर दूसरी घटना

चामराजनगर में ऑक्सीजन (Oxygen Shortage) की कमी से 24 मरीजों की मौत के बाद तिरुपति में स्थित रुइया सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 14 कोरोना मरीजों की मौत हो गई.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 11 May 2021, 06:41:48 AM
Oxygen Snag AP

5 मिनट लगे ऑक्सीजन लोड होने में इतने में हो गया हादसा. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • हफ्ते भर में आंध्र प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से दूसरा हादसा
  • तिरुपति के अस्पताल में महज 5 मिनट के अंतर से 14 मरीज मरे
  • मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश. परिजनों से संवेदनाएं जताई

तिरुपति:

कोरोना संक्रमण के बीच आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में ऑक्सीजन की कमी से हफ्ते भर के भीतर दूसरी हृदयविदारक घटना सामने आई है. चामराजनगर में ऑक्सीजन (Oxygen Shortage) की कमी से 24 मरीजों की मौत के बाद तिरुपति में स्थित रुइया सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 14 कोरोना मरीजों की मौत हो गई. जिला कलेक्टर हरिनारायण ने इस घटना की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि सोमवार की रात में आईसीयू में ऑक्सीजन की सप्लाई में दिक्कत की वजह से 14 कोरोना मरीजों की मौत हो गई. आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी (Jagan Mohan Reddy) ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. बताया जा रहा है कि ऑक्सीजन का एक टैंकर आना था जो समय पर नहीं पहुंच सका और प्राणवायु की कमी हो गई.

5 मिनट के अंतर ने बरपा दिया कहर
घटना के बाद चित्तूर के जिला कलेक्टर हरि नारायण, जॉइंट कलेक्टर और म्यूनिसिपल कमिश्नर ने अस्पताल का दौरा किया. चित्तूर के जिला कलेक्टर हरिनारायण ने बताया कि ऑक्सीजन सिलेंडर को दोबारा लोड करने में 5 मिनट का समय लगा जिससे ऑक्सीजन आपूर्ति कम होने से मरीजों की मौत हो गई. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति 5 मिनट के भीतर ही बहाल हो गई और अब सब सामान्य हो गया है. समय पर सक्रियता की वजह से हम अधिक मरीजों की मौत रोक सके. लगभग 30 डॉक्टरों को मरीजों की देखरेख करने के लिए तुरंत आईसीयू में भेजा गया.

टीडीपी नेता ने सरकार पर सवाल उठाए
14 मरीजों की मौत की जानकारी जब सीएम जगन मोहन रेड्डी को मिली तो उन्होंने इस पर दुख व्यक्त किया. जिला कलेक्टर से बात करने के बाद उन्होंने घटना की जांच करने का आदेश दिया. इसके साथ ही उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि भविष्य में ऐसी घटना दोबारा न हो. वहीं, टीडीपी नेता लोकेश नारा ने घटना से जुड़ा एक कथित वीडियो ट्विटर पर पोस्ट करते हुए राज्य सरकार पर सवाल उठाए और इसे 'हत्या' बता दिया.

यह भी पढ़ेंः  नई सरकार का पहला काम कोविड से लड़ना : असम के मुख्यमंत्री

सप्ताह भीतर दूसरा हादसा
गौरतलब है कि हफ्ते भर पहले की ऐसी ही चूक चामराजनगर में सामने आई थी. यहां के जिला अस्पताल में कोरोना और नॉन कोविड मरीजों का इलाज चल रहा था. कई मरीज वेंटिलेटर पर थे. अचानक ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने से मरीजों की जान चली गई. उस घटना में भी ऑक्सीजन की कमी से कोरोना के 12 मरीजों समेत 24 मरीजों की मौत हो गई. ये सभी मरीज अस्पातल के आईसीयू में भर्ती थे जहां अचानक ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो गई.

यह भी पढ़ेंः बिहारः चौसा के गंगा घाट पर तैरते मिले 40-45 शव, प्रशासन बोला- ये UP की लाशें

आंध्र में भी कोरोना से हालात बेहद खराब
आंध्र प्रदेश में भी कोरोना की वजह से स्थिति बेहद खराब है. बीते 24 घंटे के दौरान राज्य में कोरोना के 14,986 नए मामले सामने आए और 84 लोगों की मौत हुई है. आंध्र प्रदेश में अबतक कोरोना के पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 13,02,589 हो गई है जिसमें 1,89,367 सक्रिय केस हैं. राज्य में कोरोना से अब तक 8,791 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 11 May 2021, 06:35:13 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो