News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

पुलवामा में आतंकियों ने सेना के काफिले पर फिर किया हमला, एक दिन पहले मिला था अलर्ट

पुलवामा में आतंकियों ने सेना के काफिले पर फिर किया हमला, एक दिन पहले मिला था अलर्ट

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 17 Jun 2019, 07:38:24 PM
आइईडी हमला (फाइल फोटो)

highlights

  • आतंकियों ने पुलवामा में फिर सुरक्षाबलों पर किया हमला
  • हमले में सेना के 5 जवान घायल, एक आतंकी भी ढेर
  • एक दिन पहले ही मिला था हमले का खुफिया अलर्ट

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा (Pulwama) में आतंकियों (Terrorists) ने एक बार फिर से सेना के काफिले पर हमला (Terror Attack) कर दिया है. इस बार आतंकियों ने आईडी (IED) इस्तेमाल किया है और ऑर्मी के 44 राष्ट्रीय राइफल्स को निशाना बनाने की कोशिश की है. इस हमले में सेना के पांच जवानों के घायल होने की सूचना है. जबकि  एक आतंकी के मारे जाने की खबर है. आपको बता दें कि हमारी न्यूज वेबसाइट ने एक दिन पहले ही इस हमले के अलर्ट की खबर चलाई थी. 

आपको बता दें कि ये हमला पुलवामा के अरिहल गांव में अरिहल-लस्सीपुरा रोड पर हुआ है. सेना और आतंकियों के बीच भारी गोलीबारी हो रही है. वहीं इस हमले में फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. ये हमला तब हुआ जब सेना की बख्तरबंद गाड़ी यहां से गुजर रही थी.

यह भी पढ़ें- भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने बीमारी का दिया हवाला, भारत लौटने से किया इंकार

खुद को पाक साफ जताने के लिए PAK ने साझा किया इनपुट
इस संभावित आतंकी हमले के इनपुट अलर्ट में कहा गया था कि आतंकी पुलवामा के आवंतिपुरा में आत्मघाती हमला कर सकते हैं. इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा और कड़ी कर दी गई थी. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान ने इसके अलावा और कोई जानकारी साझा नहीं की थी. माना जा रहा है कि आतंकी हमले के बाद खुद को कठघरे में खड़े होने से बचाने के लिए ही पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है. गौरतलब है कि पुलवामा में फरवरी में सीआरपीएफ पर हुए आत्मघाती हमले के बाद भारत की कूटनीति से पाकिस्तान गहरे अंतरराष्ट्रीय दबाव में है.

यह भी पढ़ें- कंगाल पाकिस्तान नहीं लगा पा रहा आतंक पर लगाम, पुलवामा में फिर आतंकी हमले की जताई आशंका

जाकिर मूसा की मौत का बदला चाहते हैं आतंकी
खुफिया इनपुट के मुताबिक आतंकियों ने जाकिर मूसा की मौत का बदला लेने के लिए पुलवामा जिले में आतंकी हमले की योजना बनाई है. गौरतलब है कि 24 मार्च को त्राल में सुरक्षा बलों ने जाकिर मूसा को एक मुठभेड़ में मार गिराया था. जाकिर मूसा को मारे गए आतंकी बुरहान वानी का करीबी बताया जाता था. इस्लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास से साझा की गई जानकारी के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है. भारतीय सूत्रों का कहना है कि यह एक सामान्य इनपुट है. इसके अलावा कोई भी जानकारी नहीं दी गई है.

First Published : 17 Jun 2019, 07:38:24 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.