News Nation Logo
Banner

नितिन पटेल ने 10 विधायकों के साथ पार्टी छोड़ने की बात को बताया गलत

गुजरात के पूर्व मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता नरोत्तम पटेल ने उपमुख्यमंत्री की नाराज़गी पर पार्टी को जल्द से जल्द मामले सुलझाने की सलाह दी है।

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Kumar | Updated on: 30 Dec 2017, 05:54:06 PM
नितिन पटेल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने 10 विधायकों के साथ पार्टी छोड़ने की बात को ग़लत बताया है। 

नितिन पटेल ने न्यूज़ स्टेट से निजी बातचीत में कहा कि मेरे 10 विधायकों के साथ पार्टी छोड़ने की बात ग़लत है। मुझे विजय भाई (विजय रुपाणी) के सीएम बनने से कोई दिक्कत नहीं है लेकिन मेरा पार्टी में सम्मान बना रहे। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी मेरी बातचीत हुई है।

वहीं हार्दिक पटेल द्वारा ऑफर देने की बात पर उन्होंने कहा, 'मेरे घर पर मुझसे कोई भी मिलने आ सकता हे। हार्दिक भी आये कोई फ़र्क़ नही पड़ता।'

इस से पहले हार्दिक पटेल ने मंत्रालय छिनने से नाराज गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल को ऑफर देते हुए कहा था कि उनके साथ अन्याय हुआ है। अगर वो कांग्रेस में आते हैं तो उन्हें सम्मानित जगह दिलवाई जाएगी।

हार्दिक पटेल ने अहमदाबाद में कहा, 'अगर वह (नितिन पटेल) और अन्य 10 विधायक पार्टी छोड़ कांग्रेस में शामिल होते हैं तो मैं और मेरे समर्थक पार्टी में नितिन पटेल का स्वागत करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व से बातचीत करने के लिए तैयार हैं।'

उन्होंने कहा, 'अगर बीजेपी वर्षों तक पार्टी के निर्माण में अहम भूमिका निभाने वाले नितिन पटेल जैसे वरिष्ठ नेता का ध्यान नहीं रख सकती, तो नितिन पटेल को पार्टी से इस्तीफा दे देना चाहिए।'

बता दें कि नई सरकार में अहम मंत्रालय छिन जाने से नितिन पटेल नाराज हैं और उन्होंने अभी तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है।

मुंबई हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद की रैली में दिखे फिलीस्तीनी राजदूत, भारत ने जताया विरोध

नितिन पटेल को वर्तमान सरकार में सड़क एवं भवन, हेल्थ एवं फैमिली, नर्मदा, कल्पसार, चिकित्सा और शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी मिली है। जबकि पिछली सरकार में उन्हें शहरी विकास और वित्त विभाग का कार्यभार सौंपा गया था।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने शहरी विकास विभाग को नितिन पटेल से लेकर अपने पास रख लिया है। वहीं मंत्री सौरभ पटेल को वित्त और ऊर्जा विभाग दिया गया है।

बंटवारे में रुपाणी ने अपने पास कई महत्वपूर्ण विभाग रखे हैं जिनमें जीएडी (जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट), उद्योग, गृह, शहरी विकास, बंदरगाह, खनन, पेट्रोलियम, विज्ञान और टेक्नॉलजी शामिल हैं।

हालांकि जब इस मामले पर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से पूछा गया तो उन्होंने कोई भी जवाब देने से इंकार कर दिया।

हार्दिक पटेल पर बमभानिया का आरोप, गुजरात विधानसभा चुनावों में कांग्रेस से टिकट की थी मांग

First Published : 30 Dec 2017, 05:26:04 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.