News Nation Logo
Banner

गलवान शहीद की पत्नी सेना में बनी लेफ्टिनेंट, दूसरे प्रयास में पाई सफलता 

रीवा जिले के शहीद लांस नायक दीपक सिंह की पत्नी को भारतीय सेना में एंट्री मिली है. शादी के 15 माह में ही रेखा सिंह ने अपने पति को खो दिया था.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 07 May 2022, 05:56:00 PM
rekha

रेखा सिंह (Photo Credit: twitter)

highlights

  • चीनी सैनिकों के साथ टकराव में लांस नायक दीपक सिंह शहीद को गए थे
  • रेखा ने अथक मेहनत कर भर्ती परीक्षा में सफलता पाई

 

नई दिल्ली:  

रीवा जिले के शहीद लांस नायक दीपक सिंह (Deepak Singh) की पत्नी को  भारतीय सेना में एंट्री मिली है. शादी के 15 माह में ही रेखा सिंह (Rekha Singh)  ने अपने पति को खो दिया था. इसके बाद रेखा ने अथक मेहनत कर भर्ती परीक्षा में सफलता पाई और टीचर की नौकरी छोड़ सेना में लेफ्टिनेंट पद हासिल किया. अब मेडिकल फॉर्मेलिटीज पूरी होने के बाद चेन्नई में आफिसर्स ट्रेनिंग एके​डमी में उनकी ट्रेनिंग होगी. गौरतलब है कि 15 जून 2020 में गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी सैनिकों के साथ टकराव में लांस नायक दीपक सिंह शहीद को गए थे. शहीद की पत्नी रेखा सिंह का कहना है कि पति की शहादत के बाद उन्होंने फैसला लिया कि वह सेना में जाएंगी. देशभक्ति का जज्बा उनमें पहले से ही था. इस कारण उन्होंने टीचर की नौकरी छोड़कर सेना अफसर बनने मन बना लिया. इस दौरान उन्हें नोएडा जाकर ट्रेनिंग हासिल करनी थी. उन्होंने इसके लिए कड़ी मेहनत की, मगर पहले प्रयास में उन्हें सफलता नहीं मिली. 

ये भी पढ़ें: तेजिंदर सिंह बग्गा ने कार्यकर्ताओं के साथ CM केजरीवाल के घर के बाहर किया प्रदर्शन, भारी फोर्स तैनात

रेखा का कहना है ​कि उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी. दूसरे प्रयास में उन्होंने जमकर मेहनत की और सफलता रंग लाई और भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पदा पर उनका चयन हो गया. भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर प्रशिक्षण 28 मई से चेन्नई में शुरू होगा. ट्रेनिंग पूरी होने पर एक साल के अंदर भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बनकर सेवाएं देनी होंगी. 

पहले रेखा शिक्षक थी. मगर शादी के बाद शहीद दीपक सिंह ने उन्होंने अधिकारी बनने के लिए प्रेरित किया. इस कारण रेखा सिंह ने पति की शहादत के बाद अपने सपने को पूरा करने का संकल्प लिया. इसमें मायके और सुसराल के परिवारजनों ने पूरा सहयोग किया. पति की शहादत के बाद रेखा सिंह को मध्यप्रदेश शासन की आरे से शिक्षाकर्मी वर्ग-2 पद पर नियुक्ति दी थी. उन्होंने पूरी ईमानदारी से अपना शिक्षकीय दायित्व को निभाया. मगर उनके मन में सेना में जाने की इच्छा लगातार बनी रही. 

गौरलतब है कि भारतीय सेना के जांबाज सैनिक के रूप में लांस नायक ​दीपक सिंह ने 15 जून 2020 को लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों का जमकर मुकाबला किया। इस दौरान साथियों के साथ चीनी सेना को पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया. मगर इस संर्घष में वे शहीद हो गए.

 

First Published : 07 May 2022, 05:00:56 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.