News Nation Logo
Banner

राजस्थान में रेप के मामले पर शेखावत ने राहुल पर बोला हमला, पूछा- ये बेटियां कब याद आएंगी

राजस्थान में इस साल अब तक रोजाना औसत 14 महिलाओं के साथ बलात्कार और 24 के साथ छेछछाड़ की वारदात हुई.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 03 Oct 2020, 02:06:34 PM
Gajendra Singh Shekhawat

गजेंद्र सिंह शेखावत (Photo Credit: फाइल फोटो)

जयपुर:

हाथरस में बेटी के साथ दरिदंगी से देश गुस्से में है. लेकिन बेटियां राजस्थान में भी सुरक्षित नहीं हैं. जयपुर के आमेर में नाबालिग के साथ दरिदों ने बलात्कार किया तो अजमेर में एक दलित महिला की अस्मत लूटी. राजस्थान में इस साल अब तक रोजाना औसत 14 महिलाओं के साथ बलात्कार और 24 के साथ छेछछाड़ की वारदात हुई. प्रदेश में बढ़ती गैंगरेप की घटना पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा कि राजस्थान की ये बेटियां कब याद आएंगी.

यह भी पढ़ें: रेप में नंबर वन है राजस्थान, दूसरे पर UP... दरिंदों से मुक्ति कब तक

दरअसल, जयपुर के आमेर थाने पुलिस की गिरफ्त में आए तीन दरिंदों ने बुधवार को एक नाबालिग छात्रा को बंधक बनाकर उसके साथ बलात्कार किया. छात्रा जब अपने घर से जा रही थी, तब रास्ते में जबरन इन तीनों ने उसे बाईक पर बैठाया और एक कमरे ले गए. जहां पर एक ने बलात्कार किया और दो बाहर निगरानी करते रहे. पुलिस ने पोक्सो एक्ट में केस दर्ज कर तीनों को आज गिरफ्तार कर लिया.

सिर्फ आमेर नहीं, जयपुर के ही विश्वकर्मा थाना इलाके में एक महिला ने परिचित से एक हजार रुपए मांगे तो वे उसे पैसे देने के नाम पर कार में बैठाकर एक होटल में ले गया. फिर जबरन शराब पिलाई औऱ दो दोस्तों के साथ मिलकर सामूहिक बलात्कार किया. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया.

ऐसा ही अजमेर में हुआ. अजमेर में एक दलित महिला ससुराल से अपने मायके आई तब एक परिचित ने रास्ते में रोककर अनजान जगह ले गया और बंधक बनाकर बलात्कार किया. एक दिन पहले सीकर में एक बेटी के साथ घर में ही कुछ युवकों ने पिता को नींद की गोलियां खिलाकर गैंगरेप किया.

यह भी पढ़ें: राजस्थान में एक हफ्ते में करीब 8 लड़कियों के साथ हुई हैवानियत

राजस्थान में पिछले एक सप्ताह में ही दरिंदगी की फेहरिस्त लंबी है. 25 सिंतबर को 6 साल की आदिवासी बच्ची सिरोही में अपने भाई के साथ नदी में नहा रही थी. दरिदों ने छोटे भाई को लालच देकर भगाया. फिर मासूम के साथ दरिंदगी के बाद हत्या की. परिजनों को पहले शक था कि सांप के काटने से मौत हुई. लेकिन अब सच सामने आया कि दरिंदगी के बाद गला दबाया. अभी भी दरिदों की गिरफ्तारी का परिवार इंतजार कर रहा है.

राजस्थान में बेटियां कितनी असुरक्षित है, इसका अंदाजा इससे भी लगा सकते हैं कि राज्य में इस साल ही अब तक रोजाना औसत 14 महिलाओं के साथ बलात्कार और 24 के साथ छेड़छाड़ वारदात हुई. आंकड़ों को देखें तो इस साल अगस्त तक राज्य में बलात्कार के 3498 और बेटियों के साथ छेड़छाड़ के 5779 केस दर्ज हो चुके हैं. जो अपने आप में बेहद निंदनीय और शर्मनाक है.

First Published : 03 Oct 2020, 02:06:34 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो