News Nation Logo

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं- UPA सरकार में हुई थी Antrix-Devas डील

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 18 Jan 2022, 05:26:13 PM
Nirmala Sitharaman

nirmala sitharaman pc (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:  

FM Nirmala Sitharaman pc on Antrix Devas issue : एंट्रिक्स-देवास मामले पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश अंतरिक्ष देवास को लेकर आया है. इसके पहले एनसीएलटी ने लिक्विडेशन का आदेश जारी किया था. इसके बाद देवास ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और उसने एनसीएलटी के आदेश को सही ठहराया. इसे लेकर निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर निशाना साधा है.

यह भी पढ़ें : LPG Booking Offer: एलपीजी सिलेंडर की बुकिंग पर मिलेगा 2700 रुपये, जानें कैसे

देवास एंट्रिक्स एग्रीमेंट मामले को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि 10-12 साल के संघर्ष के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस केस में न्याय किया है. इसरो के पूर्व सेक्रेटरी की देवास कंपनी थी, जिसमें कई विदेशी निवेशकों ने इंवेस्ट किया था. 2005 में एंट्रिक्स-देवास केस देश की सुरक्षा के खिलाफ हुआ था. 

यह भी पढ़ें : कर्नाटक में लोगों के गांवों में वापस जाने से 15 जिलों में कोविड के मामले 10 गुना बढ़े

उन्होंने आगे कहा कि 2005 से लेकर 2011 तक देवास डील में भ्रष्टाचार के मामले आए थे. तत्कालीन यूपीए सरकार ने कैबिनेट को भी इस डील की जानकारी नहीं दी.  इसमें कांग्रेस के केंद्रीय मंत्री को भी अरेस्ट किया गया. राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया गया. रक्षा मंत्रालय द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले बैंड को निजी कंपनी को बेचा गया था. उस समय वीरप्पा मोइली को इस फ्रॉड की पूरी तरह जानकारी थी, हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं. अब कांग्रेस इस फ्रॉड को छुपाने की कोशिश कर रही है.

First Published : 18 Jan 2022, 05:20:14 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.