News Nation Logo
Banner

देशभर में लागू हुआ FASTag, टोल प्लाजा पर लोगों को हो रही जबरदस्त मुसीबत

जिन लोगों के पास पहले से फास्ट्रेक था, उनका फास्टैग रिचार्ज नहीं हो रहा है. इसके अलावा लोगों को फास्टैग लगवाने के लिए टोल प्लाजा पर घंटों इंतजार करना पड़ रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 16 Feb 2021, 03:05:37 PM
देशभर में लागू हुआ FASTag, टोल प्लाजा पर लोगों को हो रही भारी मुसीबत

देशभर में लागू हुआ FASTag, टोल प्लाजा पर लोगों को हो रही भारी मुसीबत (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • देशभर में अनिवार्य हुआ FASTag
  • टोल प्लाजा पर लोगों को हो रही भारी दिक्कतें

नई दिल्ली:

देशभर में 15 फरवरी की आधी रात से वाहनों पर टोल टैक्स के ऑनलाइन भुगतान के लिए फास्टैग को अनिवार्य कर दिया. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को मीडिया से बातचीत में बताया कि फास्टैग को अनिवार्य करने की समय सीमा को अब और आगे नहीं बढ़ाया जाएगा. केंद्रीय मंत्री ने देश के सभी वाहन चालकों से अनुरोध किया कि वे तुरंत केंद्र सरकार के इस ई-भुगतान सुविधा को अपनाएं. आपको बता दें कि सबसे पहले साल 2016 में FASTags सिस्टम को पेश किया गया था. वाहनों पर FASTag अनिवार्य किए जाने के बाद उम्मीद थी कि टोल प्लाजा पर लगने वाली गाड़ियों की लंबी-लंबी लाइनों से छुटकारा मिल जाएगा. हालांकि, FASTag अनिवार्य होने के बाद पहले दिन ऐसा कोई नजारा देखने को नहीं मिला.

ये भी पढ़ें- बुजुर्ग दंपति को नकली कोरोना वैक्सीन लगाकर लूट लिए सारे गहने, नर्स गिरफ्तार

टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य किए जाने के बाद लखनऊ से वाराणसी जाने वाले हाईवे पर सभी लेन पर यातायात सामान्य रहा. हालांकि, फास्टैग न होने की दशा में वाहन चालकों को कैश लेन में लगकर डबल टोल टैक्स चुकाना पड़ा. टोल प्लाजा पर FASTag अनिवार्य होने के बाद कई लोगों को भारी मुसीबतों का भी सामना करना पड़ा. टोल प्लाजा से होकर सफर करने वाले वाहन चालक काफी परेशान हैं. दरअसल, जिन लोगों के पास पहले से फास्ट्रेक था, उनका फास्टैग रिचार्ज नहीं हो रहा है. इसके अलावा लोगों को फास्टैग लगवाने के लिए टोल प्लाजा पर घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. इतना ही नहीं, फास्टैग लगवाने वाले लोगों का कहना है कि नेटवर्क न होने की वजह से उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

फास्टैग लागू होने के बाद न्यूज नेशन की पड़ताल में मालू चला कि फास्टट्रैक का जहां रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है, वहां लोगों के मन में नाराजगी है. लोगों का कहना है कि फास्टैग रजिस्ट्रेशन में और उसे रिचार्ज करने में हो रही देरी की वजह से उन्हें यात्रा करने में परेशानी हो रही है. लोगों का कहना है कि यदि एनएचएआई को फास्टैग अनिवार्य करना था तो नेटवर्क जैसी तमाम जरूरतों का पहले से ही इंतजाम कर लेना चाहिए था.

First Published : 16 Feb 2021, 02:53:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.