News Nation Logo
Banner

आज भारत बंद, कृषि बिल के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे किसान

कृषि बिलों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को और उग्र होने की संभावना है. हरियाणा और पंजाब में बिल का सर्वाधिक विरोध किया जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 25 Sep 2020, 06:47:47 AM
Bharat Band Farm Bill

किसानों के धरना-प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली सीमा पर भारी पुलिस. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

दो दर्जन से ज्यादा किसान संगठनों ने शुक्रवार को आहूत देशव्यापी बंद (Bharat Bandh) को समर्थन देने का ऐलान किया है. बंद का आह्वान 18 राजनीतिक दलों के भारी विरोध के बीच संसद (Parliament) में कृषि विधेयकों (Farm Bills) को पारित किए जाने के खिलाफ किया गया है. इस लिहाज से देखें तो कृषि बिलों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को और उग्र होने की संभावना है. हरियाणा और पंजाब में बिल का सर्वाधिक विरोध किया जा रहा है. बंद के मद्देनजर पंजाब जाने वाली 13 ट्रेनों का गंतव्य बदला गया है. कुछ ट्रेनें रद्द भी की गई हैं.

यह भी पढ़ेंः सार्क बैठक में बोले जयशंकर- आतंकवाद से जुड़ी चुनौतियों से निपटें

पंजाब-हरियाणा में सबसे ज्यादा विरोध
कृषि बिलों का सबसे ज्यादा विरोध पंजाब और हरियाणा में देखने को मिला है. जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को 31 किसान संगठनों ने पंजाब बंद का आह्वान किया है. वहीं हरियाणा में भारतीय किसान यूनियन समेत कई किसान संगठनों ने बिल के विरोध में किसानों की हड़ताल का समर्थन करने का ऐलान किया है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी किसानों को उनकी लड़ाई में समर्थन देने का आश्वासन दिया है. उन्होंने कहा कि शुक्रवार को प्रदेश में धारा 144 के उल्लंघन की कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी.

यह भी पढ़ेंः रणवीर सिंह संग गोवा से मुंबई पहुंचीं दीपिका, 26 को NCB करेगी पूछताछ

एमएसपी पर गारंटी एक मुद्दा
अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक वी.एम. सिंह मध्य उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखते हैं. उन्होंने कहा कि अगर एमएसपी की गारंटी नहीं दी गई तो देशभर में अशांति फैल जाएगी. गरीबों की खाद्य सुरक्षा बहुराष्ट्रीय कंपनियों और कार्पोरेट घरानों के हाथ में सौंप दी गई है. उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से इन विधेयकों को मंजूरी न देने की अपील की है. यही मांग 18 विपक्षी पार्टियां भी बुधवार को राष्ट्रपति से मिलकर उठा चुकी हैं. उन्होंने राष्ट्रपति से इन विधेयकों को पुनर्विचार के लिए सदन को वापस भेज देने का अनुरोध किया है.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस का पीएम मोदी पर तंज, कहा- किसानों से ज्यादा छोले भटूरे की चिंता

दिल्ली सीमा पर पुलिस अलर्ट
किसानों के आह्वान को देखते हुए राजधानी दिल्ली की सीमा पर अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है. किसानों को रोकने के लिए दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर सील करने के तैयारी है. हालांकि गुरुवार को दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर यातायात एकदम सामान्य रहा. ज्यादातर किसानों ने अपने-अपने इलाकों में रहते हुए प्रदर्शन का ऐलान किया है और राजधानी दिल्ली में न जाने का फैसला किया है. फिर भी दिल्ली पुलिस शुक्रवार को अलर्ट पर रहेगी. इस मद्देनजर पुलिस ने हरियाणा बॉर्डर सील करने की तैयारी कर ली है. हालांकि, गुरुवार को दिल्ली-हरियाणा मार्ग पर यातायात सामान्य था. किसान समूहों ने आह्वान किया है कि वे कल सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक चक्का जाम करेंगे.

यह भी पढ़ेंः PM मोदी से 'आयरन मैन' मिलिंद सोमन ने की मन की बात, फिट रहने के दिया ये मंत्र

पंजाब में कई ट्रेनें रद्द, कई का रास्ता बदला
पंजाब में कई स्थानों पर किसान संगठनों ने रेल रोकने की भी बात कही है. इसी को देखते हुए पंजाब जाने वाली एवं वहां से होकर गुजरने वाली कई ट्रेनों को रद्द किया गया है. इसके अलावा कई ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है. बीते कई दिनों से बड़ी संख्या में किसानों ने हरियाणा-पंजाब में प्रदर्शन किया. हरियाणा में प्रदर्शन कर रहे किसान दिल्ली आना चाहते थे. हालांकि पुलिस ने उन्हें बैरिकेड्स लगाकर रोक दिया. राजस्थान से भी कृषि बिल को लेकर बड़े पैमाने पर हंगामे की सूचना है.

First Published : 25 Sep 2020, 06:47:47 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो