logo-image
लोकसभा चुनाव

Kisan Andonal : प्रदर्शनकारियों का बिजली पानी किया बंद तो रात को 1 बजे पानी टैंकर लेने पहुंचे आप विधायक

गाजीपुर बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि जब उनका सरकार के साथ समझौता नहीं होता, तब तक उनका धरना जारी रहेगा. उन्होंने साथ कहा कि वह धरनास्थल खाली नहीं करेंगे. उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री को फोन पर पानी और शौचालय की व्यवस्था क

Updated on: 29 Jan 2021, 08:55 AM

नई दिल्ली:

गणतंत्र दिवस के मौके पर लाल किला में हुए किसानों के प्रदर्शन के एक दिन बाद योगी सरकार एक्शन में आ गई है. योगी सरकार ने प्रदेश भर में किसानों के प्रदर्शन को खत्म कराने का आदेश दिया है. इसके बाद गाजीपुर बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों को पुलिस-प्रशासन की ओर से मौखिक आदेश दिया गया. इसके साथ ही धरना स्थल पर बिजली की आपूर्ति के साथ पानी की सप्लाई भी बंद कर दी गई है. किसान नेता राकेश टिकैत ने साफ कहा है कि जब तक उनकी मांग नहीं मानी जाएगी, उनका धरना जारी रहेगा. टिकैत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को फोन पर पानी और शौचालय की व्यवस्था करने का आग्रह किया. टिकैत ने कहा कि अब मैंने दिल्ली के मुख्यमंत्री से बात कर ली है. उनसे टॉयलेट और पानी मंगा लिया है.

यह भी पढ़ेंः राष्ट्रपति अभिभाषण के बहिष्कार से साफ है हंगामाखेज रहेगा संसद का बजट सत्र

टैंकर से पानी लेने पहुंचे आप विधायक 
राकेश टिकैत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से बात की. इसके बाद आम आदमी पार्टी के कोंडली से विधायक कुलदीप कुमार रात के एक बजे के करीब पानी टैंकर लेने के लिए दिल्ली जल बोर्ड के प्लांट पर पहुंचे. विधायक कुलदीप कुमार ने कहा कि अभी रात में किसान नेता राकेश टिकैत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पीने के पानी की व्यवस्था की अपील की थी. किसानों के लिए गाज़ीपुर बॉर्डर पर अभी पानी के टैंकर लेने हेतु दिल्ली जल बोर्ड के प्लांट पर पहुंचा हूं.

यह भी पढ़ेंः गाजीपुर बॉर्डर पर तनाव भरा सन्नाटा, आधी रात सुरक्षाकर्मी भी हटे

राकेश टिकैत ने लगाया योगी सरकार पर हत्या कराने का आरोप
किसान भी लगातार रणनीति बनाने में लगे हुए हैं, फिलहाल गजीपुर बॉर्डर को चारो ओर से बंद कर दिया गया है, दिल्ली से नोएडा, गाजियाबाद और मेरठ जाने वाले रास्तों को डाइवर्ट कर दिया गया है. राकेश टिकैत ने अपने करीबियों से बातचीत करना शुरू कर दी है, हर विषय पर चर्चा की जा रही है. गुरुवार देर रात पुलिस ने टिकैत से बात भी की और उनको धरना स्थल छोड़ने का आदेश भी दिया, लेकिन स्टेज पर ही राकेश टिकैत ने प्रशासन पर दमन का आरोप लगाया. राकेश टिकैत ने कहा, गिरफ्तारी के नाम पर मेरी हत्या की साजिश रची गई. विधानसभा लखनऊ के नाम का पास लगी गाड़ियों में हथियारबंद गुंडे धरना स्थल पर भेजे गए. मैं आत्महत्या कर लूंगा, लेकिन बिल वापसी बगैर धरने से नहीं हट सकता.