News Nation Logo

दक्षिण एशिया में बाढ़ को लेकर यूरोपीय यूनियन ने 16 लाख यूरो की मदद दी

दक्षिण एशिया में बाढ़ को लेकर यूरोपीय यूनियन ने 1.6 मिलिय यूरो यानी 16 लाख यूरो की मदद दी है. 16 लाख यूरो करीब 14 करोड़ भारतीय रुपये के बराबर है. यूरोपीय यूनियन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि दक्षिण एशिया के बाढ़ से प्रभावित इलाके विशेष रूप से बांग्लादेश, भारत और नेपाल को EU मानवीय सहायता निधि में € 1.65 मिलियन दिए गए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 11 Aug 2020, 04:23:01 PM
Flood

प्रतीकात्मक फोटो। (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दक्षिण एशिया में बाढ़ को लेकर यूरोपीय यूनियन ने 1.6 मिलिय यूरो यानी 16 लाख यूरो की मदद दी है. 16 लाख यूरो करीब 14 करोड़ भारतीय रुपये के बराबर है. यूरोपीय यूनियन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि दक्षिण एशिया के बाढ़ से प्रभावित इलाके विशेष रूप से बांग्लादेश, भारत और नेपाल को EU मानवीय सहायता निधि में € 1.65 मिलियन दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें- रिलायंस इंडस्ट्रीज में निवेश के लिए योजना पर काम जारी: सऊदी अरामको

इस साल की शुरुआत में ईयू ने 1.8 मिलियन यूरो की मदद भारत और बांग्लादेश के लिए दी थी. यह मदद अम्फान चक्रवात से प्रभावित परिवारों के समर्थन के लिए था. दोनों मदद मिलाकर यूरोपीय यूनियन की ओर से 3.30 मिलियन की मदद दी जा चुकी है.

बिहार में तटबंध टूटा

बिहार के कई हिस्सों में बाढ़ से जन-जीवन अस्त-वयस्त है. इसी बीच में प्रदेश के गोपालगंज में गंडक का मुख्य तटबंध देवापुर में टूटा हुआ है. तटबंध टूटने से बाढ़ का पानी बरौली और मांझा प्रखंड के 12 से अधिक गांवों में घुसने लगा है.

यह भी पढ़ें- कोविड-19 से स्वाद लेने की क्षमता सीधे प्रभावित नहीं होती : अध्ययन

वहीं बाढ़ से अबतक 45 गांव पूरी तरह प्रभावित है. उधर नेपाल के वाल्मीकी नगर बराज से छोड़े गए सर्वाधिक साढ़े चार लाख क्यूसेक पानी के गोपालगंज पहुंचने के बाद गुरुवार को गंडक नदी बेकाबू हो गई.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 11 Aug 2020, 03:42:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो