News Nation Logo

ममता बनर्जी को चोट कैसे लगी? मुख्य सचिव की रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं चुनाव आयोग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ हुई दुर्घटना के मामले में निर्वाचन आयोग राज्य के मुख्य सचिव की रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं है. 

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 13 Mar 2021, 09:40:13 AM
mamata

ममता को चोट कैसे लगी? मुख्य सचिव की रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं EC (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • आयोग ने ऑबजर्वर्स विवेक दुबे और विशेष पर्यवेक्षक अजय नायक से मांगी रिपोर्ट
  • मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय की रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं चुनाव आयोग
  • चुनाव आयोग को मुख्य सचिव और ऑबजर्वर्स को शाम 5 बजे तक सौंपनी होगी रिपोर्ट

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ हुई दुर्घटना के मामले में निर्वाचन आयोग राज्य के मुख्य सचिव की रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं है. आयोग ने इस मामले में मुख्य सचिव से मामले की और जानकारी मांगी है. शुक्रवार को ही मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय ने ममता बनर्जी पर कथित हमले को लेकर चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेजी थी. अब इस मामले में आयोग की ओर से मुख्य सचिव से मामले में और विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. ये रिपोर्ट आज शाम यानी शनिवार को शाम पांच बजे तक सौंपनी होगी. इस मामले में चुनाव आयोग ने दो ऑबजर्वर्स से भी रिपोर्ट मांगी है.

ये दोनों ऑबजर्वर्स भी आज शाम तक अपनी रिपोर्ट आयोग को सौंप देंगे. विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे और विशेष पर्यवेक्षक अजय नायक को इस मामले में रिपोर्ट के लिए शनिवार शाम तक का ही समय दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि मुख्य सचिव की ओर से चुनाव आयोग को जो रिपोर्ट सौंपी गई है उसमें कई जानकारी स्पष्ट नहीं है और संशय बढ़ाने वाली हैं. क्योंकि तथ्यों का तो जिक्र है, लेकिन घटना के कारणों का स्पष्ट ब्योरा नहीं है. इससे ये स्पष्ट नहीं होता कि आखिर घटना की असली वजह क्या है. रिपोर्ट से यह भी पता नहीं चल पा रहा है कि यह घटना कहां और कैसे हुई है?

यह भी पढ़ेंः सुपौल में पति-पत्नी और बच्चों समेत परिवार के 5 लोगों ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

किसी नतीजे पर नहीं निकलती है मुख्य सचिव की रिपोर्ट 
मुख्य सचिव ने भीड़ का दबाव, तंग सड़क, सड़क के एकदम किनारे लोहे का खंभा, दरवाजे का झटके से बंद होना, ममता बनर्जी के बाहर निकले पैर का घायल होना जैसी तथ्यात्मक बातों को लेकर अपनी रिपोर्ट में लिखी है, लेकिन रिपोर्ट किसी निर्णय तक पहुंचने में मदद नहीं करती. मुख्य सचिव की रिपोर्ट से यह भी पता नहीं चलता है कि नंदीग्राम में ममता बनर्जी के पैर में लगी चोट हादसा था या हमला. पुलिस रिपोर्ट के आधार पर मुख्य सचिव ने निर्वाचन आयोग को दी रिपोर्ट में प्रत्यक्षदर्शियों के मत भी अलग-अलग बताए हैं. अधिकतर प्रत्यक्षदर्शी किसी न किसी पार्टी से जुड़े होने के नाते पार्टी लाइन पर ही बयान दर्ज करा रहे हैं. प्रत्यक्षदर्शियों का बयान निष्पक्ष नहीं लग रहा है.

यह भी पढ़ेंः जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष लड़ेंगी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव

जिला पुलिस को सीएम सुरक्षा की तरफ से जो जानकारी दी गई थी उसके मुताबिक मुख्यमंत्री के रूट को सैनिटाइज तो किया गया था लेकिन नाकेबंदी नहीं की सकती थी क्योंकि मुख्यमंत्री कहां-कहां रुकेंगी इसकी जानकारी किसी को नहीं थी. घटनास्थल पर भीड़ की मौजूदगी थी. भीड़ मुख्यमंत्री के वाहन के बिल्कुल नजदीक है ये तो मोबाइल वीडियो से भी पता चल रहा है लेकिन कोई ऐसा वीडियो नहीं है जिससे यह पता चले कि कार का दरवाजा लोहे के खंभे से टकराया था. इस बारे में भी स्पष्ट सबूत नहीं हैं कि कार के दरवाजे को धक्का दिया गया. लिहाजा आगे और विस्तृत जांच की जरूरत है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 13 Mar 2021, 09:40:13 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.